तदर्थ शिक्षक नियुक्ति में पैनल में दर्ज सभी शिक्षकों को नहीं बुलाए जाने की निंदा

नई दिल्ली: दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) से सम्बद्ध कॉलेजों में हो रही एडहॉक और अतिथि शिक्षकों की नियुक्तियों में प्रिंसिपल और टीचर्स इंचार्ज मनमानी कर रहे हैं। वह अपनी मनमानी करते हुए विश्वविद्यालय के विभाग पैनल में योग्य उम्मीदवारों की अनदेखी कर रहे हैं। यह आरोप  डीयू अकादमिक परिसद सदस्य प्रोफेसर हंसराज सुमन ने लगाए हैं।

 

सुमन का कहना है कि मनमानी करते हुए कॉलेज प्रिंसिपलों व इंचार्जो द्वारा अपनी सुवधिा के अनुसार पहली से चौथी कैटेगरी तक के उम्मीदवारों को बुलाकर विवि के विभाग पैनल में योग्य उम्मीदवारों की अनदेखी कर रहा है। सुमन का कहना है कि  नियुक्ति से पूर्व कॉलेज प्रिंसिपल संबंधित विभागों से एडहॉक पैनल मंगवाता है।  विभागों में बना पैनल सात कैटेगरी तक है, पूरे उम्मीदवारों को न बुलाकर केवल चौथी कैटेगरी तक बुलाया जाता है। प्रो. सुमन के अनुसार डीयू के विभागों में बने एडहॉक पैनल में 5, 6 और 7वीं कैटेगिरी में एससी, एसटी और ओबीसी कोटे के उम्मीदवार आते हैं या वे उम्मीदवार जो पीएचडी कर रहे हैं या कर चुके हैं। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!