पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर AIADMK ने केंद्र पर साधा निशाना

चेन्नईःतमिलनाडु के मुख्यमंत्री के पलानीस्वामी ने मंगलवार को कहा उनकी सरकार पेट्रोल और डीजल पर करों में कटौती पर विचार कर सकती है। इसी बीच उनकी सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके ने ईंधन के बढ़ते दामों के लिये केंद्र को दोषी ठहराया और आम लोगों की समस्या से अनजान बनाने का ‘नाटक’ करने का आरोप लगाया।

एआईएडीएमके के मुख-पत्र‘ नमतु पुरात्ची तलइवी अम्मा’में लिखे अग्रलेख में केंद्र सरकार की रुपये की विनिमय दर में गिरावट समेत अन्य मुद्दों पर आलोचना की गयी है। साथ ही गैर-भाजपा शासित राज्यों के साथ ‘सौतेला’ व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उल्लेखनीय है कि एआईएडीएमके ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को लेकर कांग्रेस के भारत बंद का समर्थन नहीं किया था।



पलानीस्वामी ने सेलम में कहा कि सरकार पेट्रोलियम उत्पादों पर कर में कटौती पर विचार करेगी चाहे केंद्र लोगों पर कितना भी बोझ डालती रहे। खुदरा तेल बेचने वाली कंपनियों की रोजाना कीमत निर्धारण का हवाला देते हुये कहा कि केवल केंद्र ही कर में कटौती कर सकता है। केंद्र कीमतों में वृद्धि कर रहा है राज्य सरकार नहीं। मुख्यमंत्री ने विभिन्न परियोजनाओं के लिये धन आवंटन पर कहा, हमें परियोजनाओं के लिये पर्याप्त पूंजी की जरूरत है लेकिन फिर भी सरकार कर कटौती पर विचार करेगी।

एआईएडीएमके की ओर से केंद्र की आलोचना उस वक्त की गयी है जब विपक्षी दल डीएमके समेत अन्य दल उस पर भाजपा का पिछलग्गू होन का आरोप लगा रही हैं। हालांकि, एआईएडीएमके ने घोटालों को लेकर भाजपा का बचाव करते हुये कहा कि उसे अपनी पूर्ववर्ती सरकार की तरह घोटाले के आरोपों का सामना नहीं करना पड़ रहा है।

Related Stories:

RELATED Video: ऑटो ड्राइवर ने पेट्रोल की कीमत पर पूछा सवाल, तो BJP नेताओं ने कर दी धुनाई