लाहौल-स्पीति में बर्फबारी के बाद पटरी से उतरा जनजीवन, लोगों को झेलनी पड़ रहीं ये मुसीबतें (Pics)

रामपुर बुशहर (विशेषर नेगी): तिब्बत सीमा से सटे हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति जिला के स्पीति क्षेत्र के लोगों का जीवन भारी बर्फबारी के बाद पटरी से उतर गया है। लोगों का कहना है खस्ताहाल सड़कों के कारण आवाजाही में कई परेशानियां आ रही हैं। एक-दूसरे से सम्पर्क करना हो तो दूर संचार व्यवस्था ठीक नहीं है। आज भी स्पीति के कई गांव संचार सुविधाओं से वंचित हैं। सर्दियों में बर्फबारी के बाद स्पीति के कई गांव अभी भी बिजली व पानी की नियमित आपूर्ति से वंचित हैं।

उन्होंने कहा कि सीमित साधनों के चलते स्पीति पर्यटन के क्षेत्र में आगे आ सकता है लेकिन पर्यटकों के लिए बुनियादी सुविधाएं न होने से यह व्यवसाय भी उभर नहीं पा रहा है। स्पीति क्षेत्र में कई मनमोहक एवं रमणीक क्षेत्र हैं, जिससे पर्यटकों को आकर्षित किया जा सकता है।

सड़कों की दशा ठीक न होने से लोगो की आवाजाही सामान्य रूप से नहीं हो पाती है। लोगो का कहना है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में ऐसे नेता और पार्टी आगे आएं जो उनके क्षेत्र की ओर विशेष कृपा दृष्टि रखें।

स्थानीय निवासी शेर सिंह ने बताया कि स्पीति में बिजली और दूरसंचार व्यवस्था 15-15 दिन तक ठप्प रहती है। इससे लोगो की परेशानियां बढ़ रही हैं। पयर्टक भी इस तरह की सेवाओं से दुखी हैं। क्षेत्र में सड़क भी कब बंद हो जाए पता नहीं चलता।

वहीं काजा के रहने वाले केसंग रापचिक व नवांग छेरिंग ने बताया आने वाले लोकसभा चुनावों में लोगों की 3 प्रमुख मांगे हैं, जिनमें सड़क,स्वास्थ्य और दूर संचार की सेवा शामिल है। उन्होंने आने वाली सरकार से मांग की है कि क्षेत्र की इन तीनों समस्याओं को शीघ्र सुलझाया जाए। वहीं एस.डी.एम. जीवन नेगी ने बताया कि सड़कों को चुनाव से पहले ठीक करने का काम जोरों पर है।

Related Stories:

RELATED लाहौल स्पीति में प्रचार को पहुंचे सुखराम और Ashray