MP के 41% विधायकों पर गंभीर आरोप तो 81% MLA हैं करोड़पति: ADR

भोपाल: मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव में चुने गए 230 विधायकों में से 94 (41%) विधायकों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। यह दावा एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) और नेशनल इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट में किया गया है। प्रदेश में 47 (20%) विधायक ऐसे भी हैं जिन पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद एडीआर और नेशनल इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट सभी विधायकों के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें सामने आईं हैं। 

विधायकों द्वारा घोषित अपराधिक मामले-विश्लेषण के अनुसार 230 विधायकों में से 94 (41%) विधायकों ने खुद के खिलाफ आपराधिक मामलों की घोषणा की है। 2013 में मध्यप्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान 230 विधायकों में से 73 (32%) विधायकों ने खुद के खिलाफ आपराधिक मामलों की घोषणा की थी।


 

विधायकों द्वारा घोषित गंभीर आपराधिक मामले- 47 (20%) विधायकों पर हत्या, हत्या के प्रयास, महिलाओं के खिलाफ अपराध आदि सहित गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। 2013 में मध्य प्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान 230 विधायकों में से 45 (19%) विधायकों ने खुद के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामलों की जानकारी दी थी।

करोड़पति विधायक- 230 नव निर्वाचित विधायकों में से 187 (81%) करोड़पति हैं। मध्यप्रदेश में 2013 विधानसभा चुनावों के दौरान 230 विधायकों में से 161 (70%) विधायक करोड़पति थे।




पार्टी वार करोड़पति विधायक-  बीजेपी के 109 विधायकों में से 90 (84%), कांग्रेस के 114 विधायकों में से 90 (79%), बसपा के 2 विधायकों में से एक (50%) और सपा का 1 विधायक करोड़पति है।  


 

औसतन संपत्ति-मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव 2018 में विधायकों की औसत संपत्ति 10.17 करोड़ है। जबकि वर्ष 2013 में 230 विधायकों की औसत संपत्तियों का औसत 5.24 करोड़ रुपये थी।


औसतन संपत्ति पार्टीवार-कांग्रेस के 114 विधायकों की औसतन संपत्ति 9.41 करोड़ रुपए, बीजेपी के 109 विधायकों की औसतन संपत्ति 11.16 करोड़ है।

 



अधिकतम और न्यूनतम संपत्ति वाले विधायक-अधिकतम और न्यूनतम संपत्ति वाले विधायकों की संपत्ति नीचे दी गई है। 



 अधिकतम देनदारी घोषित करने वाले विधायक- 37 विधायकों ने अपनी देनदारी 1 करोड़ रुपये या उससे अधिक घोषित की है। सबसे ज्यादा देनदारी वाले 3 विधायकों की सूची नीचे दी गई है।


 

आयकर विवरण में सबसे ज्यादा वार्षिक आय घोषित करने वाले विधायक-  ऊपर दी गई तालिका में 3 विधायकों को दिखाया गया है जिन्होंने आयकर रिटर्न में उच्चतम आय घोषित की है।

अधिकतम संपत्ति वाले विधायक जिन्होंने आयकर घोषित नहीं किया- 16 विधायकों ने अपनी संपत्ति 1 करोड़ से ज्यादा घोषित की है। लेकिन इन्होंने अपना आयकर विवरण नहीं दिया है।

Related Stories:

RELATED यहां रातोंरात करोड़पति बनने की चाह में युवा फंस रहे नशे के दलदल में