यूपी बोर्ड 2019 परीक्षा के लिए लगभग नौ लाख  स्टूडेंट्स का कम हुआ पंजीकरण

नई दिल्ली : विश्व की सबसे बड़ी परीक्षाओं में शुमार उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) के हाईस्कूल और इंटरमीड़एिट के गत वर्ष की तुलना में 2019 की परीक्षा के लिए नौ लाख एक हजार 200 परीक्षार्थियों से कम ने पंजीकरण कराया है।  अपरसचिव (प्रशासन) शिवलाल यादव ने बताया कि यूपी बोर्ड की 2019 में प्रस्तावित हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा के लिए 57 लाख 38 हजार 68 छात्र-छात्राओं का पंजीकरण हुआ है जबकि 2018 में 10वीं और 12वीं की परीक्षा में 66 लाख 39 हजार 268 परीक्षार्थी पंजीकृत थे।  

यादव ने बताया कि 10वीं और 12वीं के पंजीकरण की अंतिम तिथि 20 अगस्त तक थी। पिछले साल की तुलना में हाईस्कूल और इंटरमीड़एिट में नौ लाख एक हजार 200 परीक्षार्थियों का पंजीकरण कम हुआ है।  उन्होंने बताया कि नकल पर सख्ती, आधार की अनिवार्यता, फर्जी ढंग से एक स्थान से अधिक जगहों पंजीकरण आदि पर रोक के कारण बोर्ड परीक्षार्थियों की संख्या में कमी आई है। उन्होंने बताया कि अभी तक नकलविहीन परीक्षा संपन्न कराना यूपी बोर्ड और सरकार के लिए बड़ी चुनौती थी लेकिन गत वर्ष पूरी तरह से नक़ल विहीन कराने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के साथ बोर्ड ने भी कमरकसी थी। सरकार ने वर्ष 2018 का बोर्ड परीक्षा केवल नकल विहीन ही संपन्न नहीं करवाई बल्कि नकल को रोकने के लिए परीक्षा में सीसीटीवी कैमरे का प्रयोग किया जो पूर्ण सफल रहा।

Related Stories:

RELATED UP Board Exams: 7 फरवरी से  28 फरवरी तक होगी परीक्षाएं, नकल रोकने के लिए कड़े इंतजाम