कुल्लू दशहरा उत्सव में शिरकत करेंगे करीब 250 देवी-देवता

कुल्लू (शम्भू प्रकाश): 19 अक्तूबर से शुरू होने वाले अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव में करीब 250 देवी-देवता शिरकत करेंगे। जिला प्रशासन ने 305 देवी-देवताओं को निमंत्रण पत्र भेजे हैं। कई देवी-देवता दशहरा उत्सव शुरू होने से एक सप्ताह या 10-12 दिन पहले ही देवालयों से कुल्लू के लिए प्रस्थान करेंगे। सभी देवी-देवता 18 अक्तूबर शाम और 19 अक्तूबर को दोपहर तक कुल्लू पहुंचेंगे। 19 अक्तूबर को होने वाली अधिष्ठाता रघुनाथ की भव्य रथ यात्रा में देवी-देवता हिस्सा लेंगे। 

इस बार जिला देवी-देवता कारदार संघ अध्यक्ष का ताज भी बदल गया है और देव नीति में कुछ बदलावों व सुधारों की भी देव समाज को उम्मीद है। अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव के समापन मौके पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर देवी-देवताओं की नजराना राशि में बढ़ौतरी की घोषणा करने के साथ-साथ कई और सुविधाओं की भी बात कर सकते हैं। बतौर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर पहली बार अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव में शिरकत करेंगे।

शृंगा ऋषि और बालू नाग को नहीं भेजा निमंत्रण
अंतर्राष्ट्रीय कुल्लू दशहरा उत्सव में धुर विवाद को लेकर शृंगा ऋ षि और बालू नाग को निमंत्रण पत्र नहीं भेजे गए हैं। हालांकि दोनों देवता बिना निमंत्रण के भी दशहरा उत्सव में आते हैं लेकिन इन दोनों को दशहरा उत्सव स्थल तक पहुंचने से पहले ही पुलिस के सुरक्षा घेरे में लिया जाता है। इनके अस्थाई शिविरों पर भी कड़ा पहरा रहेगा।

हर साल भेजे जाते हैं 300 से ज्यादा निमंत्रण
इधर, प्रशासन हालांकि हर साल 300 से ज्यादा देवी-देवताओं को निमंत्रण पत्र भेजता है। उत्सव में 250 के करीब मुआफीदार और गैर-मुआफीदार देवी-देवता शिरकत करते हैं। पिछली बार भी 240 देवी-देवता दशहरा उत्सव में आए थे। 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!