AAP का घोषणापत्र जारी, केजरीवाल ने दिल्लीवासियों के साथ किए कई वादे..पर शर्तों के साथ

नई दिल्लीः आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पर भारत को तोड़ने का पाकिस्तान का एजेंडा पूरा करने का आरोप लगाते हुए कहा है कि चुनाव के बाद आप किसी भी ग़ैर भाजपा दल की सरकार के गठन में मदद करेगी। केजरीवाल ने गुरुवार को आप का घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि यह चुनाव देश को तोड़ने से बचाने के लिए हो रही कोशिशों का चुनाव है। केजरीवाल ने कहा कि हमारा लक्ष्य नरेंद्र मोदी को चुनाव में हराना है। उन्होंने कहा कि भाजपा को छोड़ जो भी सरकार बनाने की हालत में होगा, हम उसे समर्थन करेंगे। केजरीवाल ने कहा कि जो भी सरकार दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगी हम उसी को समर्थन करेंगे। दिल्ली सीएम ने आप के घोषणा पत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सुरक्षा, प्रदूषण, सीलिंग, परिवहन आदि से संबंधित कई वादे किए लेकिन इन वादों के साथ शर्तें जोड़ दीं। केजरीवाल ने यह भी कहा कि ये वादे पूर्ण राज्य बनने के बाद पूरे होंगे।

AAP का घोषणापत्र शर्तों के साथ

  • दिल्ली पूर्णराज्य बनेगी, तो पुलिस जनता के प्रति accountable होगी, जिससे महिलाएं सुरक्षित होंगी।
  • दिल्ली पूर्णराज्य बनेगी तो यहां के 85% बच्चों को कॉलेजों में एडमिशन मिल पाएगा।
  • दिल्ली पूर्णराज्य बनेगी तो सभी कच्चे कर्मचारियों को पक्का कर पाएंगे
  • दिल्ली पूर्णराज्य बनेगी तो MCD सरकार के अंदर आएगी फिर दिल्ली और भी साफ बनेगी
  • दिल्ली पूर्णराज्य होगा तो हमारा जनलोकपाल बिल पास होगा।
  • दिल्ली पूर्ण राज्य बनेगी, तो जनता की मेहनत की कमाई वापस और भी बेहतर तरीके से राज्य के विकास में लगाई जा सकेगी।
  • राज्य के सभी अस्थाई कर्मचारियों को एक हफ्ते में स्थाई करेंगे
  • दिल्ली के हर मतदाता को सस्ती और आसान किस्त में घर मिलेगा
  • एंटी करप्शन ब्रांच दिल्ली सरकार के अंतर्गत आएगी, तो भ्रष्टाचार पर रोक लगा देंगे

केजरीवाल ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के एक पुराने बयान का हवाला देकर कहा कि शाह पहले ही बोल चुके हैं कि आज़ादी के बाद अन्य देशों से आए हिंदू, सिख और बौद्ध को छोड़कर अन्य सभी समुदायों के लोगों को देश से बाहर कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा, “इसका मतलब साफ़ है कि मुस्लिम, जैन पारसी और अन्य समुदाय के लोगों को देश से निकल दिया जाएगा। इसलिए हम कहते है कि ये चुनाव प्रधानमंत्री बनाने के लिए नहीं बल्कि देश बचाने के लिए है।” उन्होंने आप-कांग्रेस गठबंधन नहीं हो पाने के लिए कांग्रेस को ज़िम्मेदार ठहराते हुए कहा कि कांग्रेस ट्विटर पर गठबंधन करने की कोशिश कर रही थी। उन्होंने कहा “अगर फिर से मोदी और शाह की जोड़ी सत्ता में आती है तो इसके लिए सिर्फ़ और सिर्फ़ एक ही शख़्स ज़िम्मेदार है और वह हैं राहुल गांधी।”

Related Stories:

RELATED AAP का Punjab में बेड़ी पार लगाने पहुंचे Kejriwal