पंजाब के खिलाड़ी दूसरे राज्यों में खेलने के लिए मजबूर: आप

चंडीगढ़ःपंजाब आम आदमी पार्टी (आप) ने कहा है कि राज्य में खिलाड़ियों का अपमान हो रहा है जिसके कारण वे दूसरे राज्यों में खेलने को मजबूर हैं। आप पार्टी ने राज्य सरकार और खेल विभाग के रवैये को निराशाजनक बताते इसकी निंदा की है। 

पार्टी के विधायक गुरमीत सिंह मीत हेयर और रुपिन्दर कौर रूबी ने आज यहां कहा कि सरकार और खेल विभाग खिलाड़ियों की जरूरतों को नजरंदाज कर रही है। सरकार के इस रवैये से परेशान खिलाड़ी खेल से दूर हो रहे हैं तथा सहूलियतों की तलाश में दूसरे राज्यों की ओर रूख कर रहे हैं। हेयर ने कहा कि राष्ट्रीय तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नाम कमाने वाले नौजवान खिलाड़ी नशों में फंसी जवानी के लिए रोल माडल होने चाहिए थे। सरकार उनको न तो रोजगार मुहैया न करवा रही और न ही उनको मान सम्मान दे रही। अब वे खुद आर्थिक संकट से जूझ रहे हैं।  

रूबी ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मैडल विजेता खिलाड़ी दूसरे राज्यों में खेल रहे हैं। सरकार की खेल नीति फेल हो चुकी है। उन्होंने सरकार से मांग की कि सरकार खिलाड़ियों के लिए इस वर्ष के बजट में ज्यादा राशि रखे और निचले स्तर से ही खिलाड़ियों को सुविधायें प्रदान करे और उनके भविष्य को सुरक्षित करने के लिए सही रोजगार मुहैया करवाए। उन्होंने कहा कि मुकाबले के समय घायल खिलाड़ियों को दी जाने वाली सहायता राशि में वृद्धि की जानी चाहिए और खिलाड़ियों की योग्यता के आधार पर उन्हें रोजगार मुहैया करवाया जाना चाहिए। 
 

Related Stories:

RELATED IPL 2019 में खेलेंगे पंजाब के 15 खिलाड़ी, जानें काैन सा खिलाड़ी किस टीम में है शामिल