ओलांद का बयान साबित करता है कि राफेल करार बड़ा घोटाला है: संजय सिंह

नागपुर: आम आदमी पार्टी (आप) के नेता संजय सिंह ने शनिवार को कहा कि राफेल करार पर फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान ने साबित कर दिया है कि यह ‘‘बड़ा घोटाला’’ है।  राज्यसभा सांसद सिंह ने यह टिप्पणी ऐसे समय में की है जब शुक्रवार को फ्रांसीसी मीडिया में आई खबर में ओलांद के हवाले से कहा गया कि 58,000 करोड़ रुपए के राफेल करार में दसाल्ट एविएशन के लिए साझेदार के तौर पर अनिल अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस डिफेंस को चुनने का प्रस्ताव भारत सरकार की ओर से दिया गया था और फ्रांस के पास अन्य कोई विकल्प नहीं था। 

राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद का बयान चौंकाने वाला
फ्रांसीसी भाषा की खबरिया वेबसाइट ‘मीडियापार्ट’ ने अपनी एक खबर में ओलांद के हवाले से कहा था, ‘‘भारत सरकार ने इस सेवा समूह का प्रस्ताव किया था और दसाल्ट ने अंबानी से बातचीत की थी। हमारे पास कोई विकल्प नहीं था, हमने उस पक्षकार को अपनाया जो हमें दिया गया था।’’  यह पूछे जाने कि रिलायंस को साझेदार के तौर पर किसने और क्यों चुना, इस पर ओलांद ने जवाब दिया, ‘‘इस पर हमारा कोई जोर नहीं था।’’  नागपुर में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा, ‘‘फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद की ओर से राफेल करार पर दिया गया बयान चौंकाने वाला है और यह साबित करता है कि राफेल करार एक बड़ा घोटाला था।’’  उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार को बताना चाहिए कि ऑफसेट ठेका रिलायंस डिफेंस को क्यों दिया गया। ओलांद का बयान साबित करता है कि मोदी सरकार ने ऑफसेट ठेका दिलाने के लिए रिलायंस डिफेंस को फायदा पहुंचाया।’’      

Related Stories:

RELATED सुखपाल खैहरा नहीं करेंगे अमृतपान!