विक्टोरिया झील में नौका डूबने से 86 लोगों की मौत, 300 से अधिक लोग थे सवार

नैरोबीः विक्टोरिया झील में एक नौका के डूबने से उस पर सवार कम से कम 86 लोगों की मौत हो गई है। तंजानिया की सरकारी मीडिया ने एक क्षेत्रीय गवर्नर के हवाले से यह जानकारी दी और कहा कि बचे हुए लोगों की तलाश के लिए अभियान चलाया जा रहा है। 


विक्टोरिया झील के तट पर स्थित म्वांजा बंदरगाह के क्षेत्रीय आयुक्त जॉन मोंगेल्ला ने ‘सिटिजन’अखबार को बताया कि शुक्रवार सुबह कई शव निकाले गए, जिससे मृतकों की संख्या बढ़कर 86 हो गई। प्रारंभिक अनुमान के अनुसार, एमवी न्येरेरे नामक इस नौका में 300 से अधिक लोग सवार थे। यह नौका झील के सबसे बड़े द्वीप यूकेरेवे से कुछ ही मीटर पहले डूब गई।

म्वांजा के क्षेत्रीय पुलिस कमांडर जोनाथन शाना ने बताया कि हादसे के बाद 37 लोगों को पानी से सुरक्षित निकाल लिया गया। उन्होंने बताया कि रात में बचाव अभियान बंद कर दिया गया था, लेकिन सुबह जब यह दोबारा शुरू किया गया तो कई और राहत एवं बचावकर्मियों ने इसमें हिस्सा लिया।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि नौका में सवार लोगों के बारे में सटीक जानकारी नहीं मिल सकी है, क्योंकि चालक दल के सदस्य और उपकरण भी डूब गए हैं। गौरतलब है कि तंजानिया में कई बड़ी नौका दुर्घटनाएं होती रही हैं। विक्टोरिया झील में 1996 में एक नाव डूबने से कम से कम 500 लोगों की मौत हो गई थी और 2012 में हिंद महासागर के जंजीबार द्वीपसमूह के पास एक नाव डूबने से 145 लोग मारे गए थे।  

Related Stories:

RELATED सुखना में सीवरेज के पानी पर हाईकोर्ट सख्त, कहा-खुद जाकर देखेंगे