पालमपुर अस्पताल पहुंचे डेंगू के 5 संदिग्ध मामले, प्रभावित क्षेत्र को रवाना हुई विभाग की टीम

पालमपुर:डेंगू पीड़ित 5 संदिग्ध मामले नागरिक चिकित्सालय पहुंचे हैं। जिस क्षेत्र से ये संदिग्ध डेंगू के पीड़ित रोगी चिकित्सालय पहुंचे हैं उस क्षेत्र में और अधिक इस प्रकार लक्षण युक्त रोगी होने की सूचना भी स्वास्थ्य विभाग तक पहुंची है, ऐसे में स्वास्थ्य विभाग ने उक्त टीम क्षेत्र के लिए रवाना की है। बताया जा रहा है कि एक निजी लैब में करवाए गए टैस्ट में इन पांचों को डेंगू रोग का निदान किया गया है परंतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा डाक्टर राजेंद्र प्रसाद आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं चिकित्सालय टांडा में करवाए गए टैस्ट में सभी की रिपोर्ट नैगेटिव पाई गईं हैं, ऐसे में इन रोगियों में डेंगू होने की बात को स्वास्थ्य विभाग ने नकार दिया है।

2 रोगी अभी भी नागरिक चिकित्सालय में भर्ती
इससे पूर्व नागरिक चिकित्सालय पालमपुर से एक संदिग्ध डेंगू पीड़ित को डाक्टर राजेंद्र प्रसाद आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं चिकित्सालय टांडा रैफर कर दिया है जबकि दूसरा पूर्व सैनिक होने का कारण स्वत: सैन्य अस्पताल रैफर हुआ है। वहीं एक पीड़ित को उपचार देने के बाद घर भेज दिया गया है। 2 रोगी अभी भी नागरिक चिकित्सालय पालमपुर में उपचाराधीन है। इनमें एक 14 वर्षीय लड़की तथा एक 25 वर्षीय महिला शामिल है। इन्हीं लोगों से प्राप्त जानकारी के आधार पर स्वास्थ्य विभाग की टीम हरोट क्षेत्र के लिए रवाना हुई है। नागरिक चिकित्सालय पालमपुर के चिकित्सा अधीक्षक डाक्टर विनय महाजन ने बताया कि 5 मामले चिकित्सालय पहुंचे हैं, जिनमें से एक को टांडा रैफर कर दिया गया है जबकि 2 उपचाराधीन हैं।

क्या कहते हैं मुख्य चिकित्सा अधिकारी
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आर.एस. राणा ने बताया कि इस संबंध में सूचना प्राप्त हुई है टीम को हरोट भेजा गया है। वहीं पीड़ित रोगियों के टैस्ट डा. राजेंद्र प्रसाद आयुर्विज्ञान महाविद्यालय एवं चिकित्सालय टांडा में करवाए गए हैं जिसकी रिपोर्ट नैगेटिव आई है, ऐसे में उक्त सभी डेंगू रोग से पीड़ित नहीं पाए गए हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!
× RELATED डेंगू के 19 और स्क्रब टाइफस के 3 मामले सामने आने से मचा हड़कंप