राशन कार्ड के चक्कर में बीते 3 साल, अधिकरियों ने सिर्फ आश्वासन देकर दिया टाल

सुंदरनगर (नितेश):ग्राम पंचायत झुंगी के गांव घंघार निवासी अमर चंद ठाकुर पिछले 3 वर्षों से नया राशन कार्ड बनने का केवल इंतजार ही कर रहे हैं। जानकारी देते हुए अमर चंद ठाकुर ने कहा कि उनकी शादी वर्ष 2015 में हुई थी और इससे पूर्व उनका नाम उनके परिवार के राशन कार्ड में दर्ज था। उन्होंने कहा कि शादी के 1 साल बाद पुराने राशन कार्ड से उनके परिवार का नाम अलग कर नया राशन कार्ड बनाने के लिए ग्राम पंचायत झुंगी के पंचायत सचिव को आवेदन किया था लेकिन 3 ग्राम सभाएं होने के बाद भी आज दिन तक आश्वासन के अलावा कुछ हाथ नहीं लगा।

20 जनवरी, 2018 ई-समाधान पर की थी शिकायत

उन्होंने स्थानीय पंचायत द्वारा उनका कार्य न किए जाने की सूरत में ई-समाधान पर इस समस्या को लेकर एक शिकायत 20 जनवरी, 2018 को खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग को दायर की। इस पर विभाग ने शिकायत जिला नियंत्रक, खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंडी को आगामी कार्रवाई के लिए भेजी। जिला नियंत्रक द्वारा 29 जनवरी, 2018 को शिकायत पंचायती राज के जिला योजना अधिकारी मंडी को भेज कर निपटा दी गई। उन्होंने कहा कि 1 वर्ष के करीब समय बीतने के उपरांत भी आज दिन तक उनके परिवार का नाम पुराने राशन कार्ड से विभाग द्वारा अलग नहीं किया गया है। 

सरकार के वैब पोर्टल पर खड़े किए सवाल

उन्होंने प्रदेश सरकार द्वारा जन शिकायतों के शीघ्र निपटारे के लिए बनाए गए वैब पोर्टल ई-समाधान पर भी सवालिया निशान खड़े करते हुए कहा कि सरकार द्वारा प्रदेश के लोगों को जल्द से जल्द न्याय प्रदान करने के लिए ई-समाधान बनाया गया है,लेकिन यहां पर शिकायत करने के एक वर्ष बाद भी कोई कार्रवाई ना होने से यह लोगों के लिए मात्र एक छलावा बन गया है। अमर चंद ठाकुर ने कहा कि विभाग की इस सुस्त कार्यप्रणाली को लेकर वह जल्द ही न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे और कानूनी कार्रवाई अमल में लाएंगें।

क्या कहते हैं जिला योजना अधिकारी

जिला योजना अधिकारी मंडी गिरीश सुमरा का कहना है कि मामला संज्ञान में आया है। नया राशन कार्ड बनाने व नाम आदि काटने की प्रक्रिया दिसम्बर माह में पूरी होती है। मामले को लेकर संबंधित खंड विकास अधिकारी से जांच की जाएगी।

Related Stories:

RELATED स्मार्ट राशन कार्ड बनाकर हर गरीब परिवार को सौंपे जाएंगे उनके अधिकार : मंत्री आशु