हताशा और कुंठा से ग्रस्त है 22 दलों का गठबंधन: कलराज मिश्र

देवरिया:भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री कलराज मिश्र ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता और सेवा भाव से घबराकर पिछले दिनों कोलकाता में हताशा और कुंठा में 22 दलों ने गठबंधन किया है। मिश्र मंगलवार को उत्तर प्रदेश के देवरिया में पत्रकारों से कहा कि कोलकाता के 22 दलों के गठबंधन की बैठक में कहीं घोटाला और भ्रष्टाचार के बारे में कोई चर्चा नहीं की गई।

गठबंधन की बैठक में एक मात्र लक्ष्य था कि मोदी को कैसे रोका जाए। देश के सारे विपक्षी दल मोदी की लोकप्रियता और उनके सेवा भाव को देखकर घबरा गए हैं। उन्हें एक मात्र इस बात की चिन्ता है कि उन्हें कैसे रोका जाए। उन्होंने कहा कि विपक्षी 22 दलों का गठबंधन उनकी हताशा और कुंठा को दर्शाता है। कुंठा हमेशा पराजित मानसिकता को दर्शाती है। देश की जनता जानती है कि मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार ने कई विकास योजनाएं चलाई है जिससे आम जनता लाभन्वित हो रही है। आयुष्मान योजना, जनधन योजना, उज्जवला योजना और मुद्रा योजना समेत अनेक योजनाओं के माध्यम से आम जनता को लाभ मिल रहा है।

मिश्र ने कहा कि हताशा और कुंठा से घिरा विपक्ष मोदी के खिलाफ कितना भी झूठे प्रलाप कर ले लेकिन देश की जनता जानती है कि उनके नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। विपक्षी दलों के गठबंधन से आम जनता का ध्रुवीकरण मोदी के पक्ष में हो रहा है। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी(सपा)-बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन के सवाल पर मिश्र ने कहा कि दोनों दलों का गठबंधन स्वार्थ पर आधारित है। दोनों दलों को लगता है कि वे अकेले चुनाव नहीं लड़ सकते हैं इसलिए वे जाति पाति के आधार पर चुनाव की वैतरणी पार कर सकते हैं। यह उनके भ्रम को प्रदेश की जनता चकनाचूर कर देगी। जनता विकास और सुशासन चाहती है, जो भारतीय जनता पार्टी की ही सरकार दे सकती है।

देवरिया सीट से लोकसभा का चुनाव लड़ने के बारे में पूछे जाने पर मिश्र ने कहा कि पार्टी ने कभी नहीं कहा है कि आप चुनाव नहीं लड़ेंगे। मैं मानकर चल रहा हूं कि मैं देवरिया से चुनाव लड़ूंगा। यदि ऐसी कोई बात होती तो मेरे जैसे व्यक्ति को जरूर बता दिया गया होता। मैं पार्टी का निष्ठावान कार्यकर्ता हूं। पार्टी का जो आदेश होगा उस पर मैं अमल करूंगा।

Related Stories:

RELATED यहां आफत में फंसे 300 लोग पलायन को मजबूर