दिल्ली में बसेगा हैदराबाद व आगरा, बनाए जाएंगे 17 लाख मकान

नई दिल्लीः दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने दिल्ली में हैदराबाद व आगरा बसाने पर अपनी मुहर लगा दी है। अब शहरी विकास मंत्रालय की अंतिम मंजूरी का इंतजार है। डीडीए की स्कीम के मुताबिक 76 लाख लोगों के रहने के लिए 17 लाख मकान बनाए जाएंगे। वर्ष 2011 की जनगणना के मुताबिक हैदराबाद की जनसंख्या 60 लाख है तो आगरा की आबादी 16 लाख। इस प्रकार दिल्ली में हैदराबाद व आगरा को बसाने की तैयारी की गई है।

कमजोर वर्ग के लिए बनाए जाएंगे मकान
दिल्ली के बाहरी हिस्से के शहरीकृत किए जाने लायक 95 गांवों में 17 लाख मकान बनाने की योजना है। भूमि एकत्रीकरण नीति के तहत सरकारी एजेंसियां एकत्रिकृत भूमि पर सड़कों, स्कूलों, अस्पतालों, सामुदायिक केंद्रों और स्टेडियम जैसे बुनियादी ढांचे का विकास करेंगी। बाद में वहां निजी बिल्डरों की मदद से आवासीय परियोजनाएं विकसित की जाएंगी। डीडीए के मुताबिक 17 लाख घरों में से पांच लाख से अधिक मकान आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए बनाए जाएंगे।

DDA तैयार करेगा योजना
हाउसिंग की पूरी योजना डीडीए तैयार करेगा। प्रत्येक क्षेत्र आकार में 250-300 हेक्टेयर होगा। अत्यधिक निवेश के अवसर पैदा होने से लाखों किसानों को भी लाभ होने की भी संभावना है। डीडीए के मुताबिक पूरे इलाके को स्मार्ट शहर के तौर पर विकसित किया जाएगा। दिल्ली में पहली बार इस प्रकार की हाउसिंग स्कीम विकसित की जाएगी।

Related Stories:

RELATED जोहड़ पर बने मकान गिराए जाएंगे