12वीं की हिस्ट्री की किताब फिर विवादों में,जानें क्या लगा नया आरोप

लुधियानाःपंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड की 12वीं की हिस्ट्री की किताब एक बार फिर से सवालों के घेरे में आ गई है। अब जो 12वीं क्लास का दूसरा चैप्टर ' गुरु नानक साहिब: एक नया धर्म और नया पंथ' बोर्ड ने वेबसाइट पर अपलोड किया है, उसमें खत्री और ब्राह्मण जाति को नकारात्मक ढंग से पेश करने के आरोप लगने शुरू हो गए हैं। 

 

चैप्टर के 3.2 हिस्से में दोनों जातियों को दमनकारी शासकों का हिस्सा बनने के बारे में लिखा गया है। वहीं, 6.3 नंबर में इसके उलट खत्री समाज को गुरु नानक साहिब के श्रद्धालुओं के रूप में दिखाया गया है। ये दोनों ही पॉइंट्स विरोधात्मक हैं। इससे जहां स्टूडेंट्स में जातियों को लेकर घृणा बढ़ने के आसार हैं। वहीं, टीचर्स परेशान हैं कि आखिर वो किस पहलू को सही मानें। 

 
दूसरा चैप्टर गुरु नानक साहिब

एक नया धर्म और नया पंथ है। लेकिन इस चैप्टर में उन्हीं के जीवन, परिवार, उदासियों के बारे में सिर्फ एक बॉक्स में जानकारी दी गई है जबकि गुरु नानक देव जी के जीवन के बारे में बताया जाना बेहद जरूरी है। इंग्लिश के चैप्टर में गुरु नानक देव जी को गुरु नानक लिखा गया है। गुरबाणी की तुकों में भी स्पैलिंग मिस्टेक्स हैं। हिंदी की ट्रांसलेटेड किताब अभी तक उपलब्ध नहीं करवाई गई है। 

पांच महीने बीतने के बाद भी सिर्फ तीन चैप्टर ही आए हैं। बोर्ड जल्द सारा सिलेबस उपलब्ध करवाए ताकि स्टूडेंट्स की पढ़ाई का और नुकसान न हो। - धर्मजीत सिंह, जिला प्रधान, मास्टर कैडर यूनियन लुधियाना 

बोर्ड की क्लास है और इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा। अभी तक सिर्फ 8 पर्सेंट ही मेटिरियल मिला है। ये स्टूडेंट्स के साथ खिलवाड़ है।'-- गुरिंदर सिंह, हिस्ट्री टीचर 

स्पैलिंग मिस्टेक्स टेक्निकल एरर की वजह से हो रहे थे। इसे दूर करने के लिए अब स्कैन की गई कॉपी अपलोड की जा रही है। दूसरे मुद्दे की जांच करने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।'- मनोहर कांत कलोहिया, चेयरमैन, पीएसईबी 
 

Related Stories:

RELATED बहुत पुराना है फतवों का इतिहास,अजीबों गरीब फरमान करते हैं हैरान