लोढा समिति जैसे पैनल की जरूरत राष्ट्रीय खेल महासंघों में भी : सुशील कुमार

Tuesday, May 9, 2017 5:29 PM
लोढा समिति जैसे पैनल की जरूरत राष्ट्रीय खेल महासंघों में भी : सुशील कुमार

नई दिल्ली: भारत के महानतम आेलंपियनों में से एक सुशील कुमार का मानना है कि बीसीसीआई को पाक साफ करने के लिये जिस तरह जस्टिस आर एम लोढा की अध्यक्षता वाली समिति बनाई गई, उसी तरह की समितियों की जरूरत राष्ट्रीय खेल महासंघों में अधिक जवाबदेही और पारदर्शिता लाने के लिये है। यहां रेलवे खेल प्रवर्तन बोर्ड द्वारा आयोजित खेल कांक्लेव के मौके पर उन्होंने कहा ,‘‘ राष्ट्रीय खेल महासंघों के लिये भी एक लोढा समिति होनी चाहिये। इससे महासंघों में जवाबदेही और पारदर्शिता बढेगी । कोचों को जवाबदेह होना होगा। हमें स्तरीय कोचों की जरूरत है ।’’  

आरएसपीबी सचिव रेखा यादव ने परिचर्चा में कहा ,‘‘ हमें स्वीकार करना होगा कि तमाम खामियों के बावजूद बीसीसीआई के पास बेहतरीन बुनियादी ढांचा है।’’ पांच बार की विश्व चैम्पियन एम सी मेरीकाम ने स्तरीय सहयोगी स्टाफ के अभाव की बात कही। उन्होंने कहा ,‘‘ मुझे याद है कि हमारे पास एक मुक्केबाजी कोच था। कुछ दिन बाद मैने उनके बारे में जानना चाहा तो पता चला कि उनके पास बास्केटबाल या फुटबॉल में एनआईएस डिग्री है। बाद में उन्हें द्रोणाचार्य पुरस्कार भी मिला।’’  

जिम्नास्ट दीपा करमाकर के कोच बिश्वेश्वर नंदी ने कहा,‘‘ पिछले चार साल से जिम्नास्टिक की कोई राष्ट्रीय चैम्पियनशिप नहीं हुई क्योंकि दो संघ भारतीय जिम्नास्टिक महासंघ की नुमाइंदगी का दावा करते हैं। इसके लिये कौन जिम्मेदार है। साइ को धन्यवाद कि हमारे पास अभ्यास की उचित सुविधायें हैं ।’’ 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !