महिलाओं की शिकायतों के समाधान के लिए समिति बनाएगा खेल मंत्रालय

Wednesday, March 8, 2017 4:11 PM
महिलाओं की शिकायतों के समाधान के लिए समिति बनाएगा खेल मंत्रालय

नई दिल्ली: खेल मंत्रालय ने आज भारत में महिला खिलाडिय़ों की शिकायतों के समाधान के लिये एक उच्चस्तरीय समिति गठित करने का फैसला किया है। खेल मंत्री विजय गोयल ने कहा कि संयुक्त सचिव, खेल की अध्यक्षता में समिति का गठन किया जायेगा, जिसमें दो वरिष्ठ महिला खिलाड़ी, एक महिला वकील एवं एक महिला खेल पत्रकार शामिल होंगी। उन्होंने कहा, ‘‘देशभर की महिला खिलाड़ी, महिला प्रशिक्षक एवं खेलों से जुड़े विद्यार्थी समिति के पास अपनी शिकायत और समस्याएं दर्ज कर सकेंगे। समिति सभी मामलों की निष्पक्ष जांच करेगी और समस्याआें के निवारण का रास्ता भी निकालेगी। ’’ 

गोयल ने कहा कि उनका मंत्रालय यौन उत्पीडऩ को लेकर शून्य सहिष्णुता की नीति अपनाता है। उन्होंने कहा कि मंत्रालय महिला और पुरूष खिलाडिय़ों को समान सहायता प्रदान करता है और उनके प्रशिक्षण में किसी तरह का लिंग भेद नहीं किया जाता है।  उन्होंने कहा कि भारतीय खेल प्राधिकरण का विशेष क्षेत्र खेल कार्यक्रम के तहत कुल 1862 खिलाडिय़ों में से 807 महिला खिलाडिय़ों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। खेल मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर ‘भारत में महिलाएं और खेल’ विषय पर समेलन का आयोजन किया। इस अवसर पर खेल मंत्री ने महिला खिलाडिय़ों की समस्याएं और सुझाव सुनें और उन्हें भरोसा दिलाया कि मंत्रालय महिला खिलाडिय़ों के लिए बेहतर वातावरण तैयार करने के लिए प्रतिबद्ध है। 

गोयल ने कहा, ‘‘देश में खेलों का माहौल बनाना जरूरी है। मेरी देश भर की माताओं से अपील है कि वे बेटियों को खेल को अपने करियर के रूप में अपनाने में मदद करें। बेटियों को सुरक्षित माहौल प्रदान किया जाएगा, ताकि उनके भीतर निडर व तनावमुक्त होकर खेलने का आत्मविश्वास जगे।’’ इस अवसर पर अर्जुन पुरस्कार विजेता एथलीट शाईनी विलसन ने कहा कि लड़कियों को घर से दूर जाने की अनुमति मुश्किल से मिलती है, इसलिए मंत्रालय यह सुनिश्चित करे कि उनके माता-पिता को किसी प्रकार की चिंता न रहे। मशहूर भारोत्तोलक कुंजु रानी ने पूरे देशवासियों के समर्थन के लिये आभार व्यक्त किया। 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !