क्वार्टरफाइनल में पहुंची पीवी सिंधू, प्रणय बाहर

Thursday, March 9, 2017 8:03 PM
क्वार्टरफाइनल में पहुंची पीवी सिंधू, प्रणय बाहर

बर्मिंघम: रियो ओलंपिक की रजत विजेता और छठी वरीयता प्राप्त पीवी सिंधू ने पहली बार ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन खिताब जीतने के लिये अपने अभियान को आगे बढ़ाते हुए गुरूवार को इंडोनेशिया की दिनार दियाह आस्टिन को 21-12 21-4 से रौंदकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि एच एस प्रणय दूसरे दौर में हारकर बाहर हो गये। सिंधू ने दिनार को हराने में मात्र 30 मिनट का समय लगाया। विश्व में छठे नंबर की सिंधू का 39वें नंबर की दिनार के खिलाफ यह पहला मुकाबला था और उन्होंने इस मुकाबले को निपटाने में ज्यादा समय नहीं लगाया। पहला गेम 21-12 से जीतने के बाद सिंधू ने दूसरे गेम में लगातार नौ अंक लेकर 9-0 की बढ़त बनाई। दिनार ने फिर स्कोर 3-9 किया लेकिन सिंधू ने एक बार फिर लगातार नौ अंक लेकर 18-3 की बढ़त बनाने के बाद 21-4 से गेम और मैच समाप्त कर दिया।  

पुरुष एकल में प्रणय की हार के साथ भारतीय चुनौती निपट गई। अजय जयराम कल पहले दौर में हार गये थे जबकि प्रणय को आज दूसरे दौर में हार का सामना करना पड़ा। प्रणय को सातवीं वरीयता प्राप्त चीन के तियान होऊवेई ने 33 मिनट में 21-13,21-5 से पीट कर क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली। प्रणय का अपने करियर में पहली बार चीनी खिलाड़ी से सामना हुआ और उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा। पहले गेम में कुछ संघर्ष करने वाले प्रणय ने दूसरे गेम में जैसे समर्पण कर दिया और मात्र पांच अंक ही जुटा सके।   इससे पहले पूर्व नंबर एक खिलाड़ी सायना नेहवाल ने टूर्नामेंट में शानदार शुरूआत करते हुये गत चैंपियन जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया। 

आठवीं वरीयता प्राप्त सायना ने विश्व रैंकिंग में 10वें नंबर की खिलाड़ी ओकुहारा को 38 मिनट तक चले मुकाबले में 21-15, 21-14 से हरा दिया। इस जीत के साथ ही सायना ने ओकुहारा से 2015 में मिली हार का बदला भी चुका लिया। विश्व रैंकिंग में नौवें नंबर की खिलाड़ी सायना ने ओकुहारा के खिलाफ अब अपना करियर रिकॉर्ड 6-1 कर लिया है। पुरूष एकल में कल भारत के अजय जयराम को चीन के हुआंग यूजियांग के हाथों 35 मिनट में 19-21 13-21 से हार का सामना करना पड़ा। मिश्रित युगल में प्रणव चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी भी पहले दौर में बाहर हो गयी।  



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!