फ्रेंच ओपन: हालेप का सपना तोड़ ओस्तापेंको ने रचा नया इतिहास

Saturday, June 10, 2017 9:09 PM
फ्रेंच ओपन: हालेप का सपना तोड़ ओस्तापेंको ने रचा नया इतिहास

पेरिस: गैर वरीयता प्राप्त लात्विया की येलेना ओस्तापेंको ने तीसरी सीड रोमानिया की सिमोना हालेप को तीन सेटों के कड़े संघर्ष में शनिवार को 4-6, 6-4, 6-3 से हराकर फ्रेंच ओपन टेनिस टूर्नामेंट के महिला एकल का खिताब जीतने के साथ ही पिछले 80 वर्षाें में नया इतिहास रच दिया। 20 वर्षीय ओस्तापेंको ने पहला सेट हारने के बाद शानदार वापसी करते हुए एक घंटे 59 मिनट में खिताबी जीत हासिल की और हालेप का नंबर वन बनने का सपना तोड़ दिया। ओस्तापेंको इस जीत के साथ ही 1933 के बाद पिछले 80 वर्षाें में सुजैन लेंगलेन कप उठाने वाली पहली गैर वरीयता प्राप्त महिला खिलाड़ी बन गई। 

ओस्तापेंको फाइनल में पहुंचने के साथ ही रातोंरात सुर्खियों में आ गई थी। वह ऐसा करने वाली लात्विया की पहली खिलाड़ी बनी थीं और अब तक उन्होंने खिताब जीतने का भी इतिहास बना दिया। लात्विया के राष्ट्रपति ने उनके फाइनल में पहुंचने के बाद उनकी मां से बात की थी और फाइनल के लिए अपनी शुभकामनाएं दी थीं। लात्वियाई खिलाड़ी ने अपने देशवासियों को निराश नहीं किया और पहला सेट हारने के बावजूद खिताब जीतकर दम लिया। हालेप के पास भी खिताब जीतने का सुनहरा मौका था। लेकिन वह पहला सेट जीतने के मौके को पूरी तरह भुना नहीं सकीं। 

हालेप यदि खिताब जीत जाती तो वह ऐसा करने वाली रोमानिया की पहली खिलाड़ी बनती और साथ ही विश्व रैंकिंग में नंबर एक बन जाती। लेकिन ओस्तापेंको ने उनका सपना पूरा नहीं होने दिया। रोमांचक संघर्ष में दोनों खिलाड़यिों ने जमकर एक दूसरे की सर्विस तोड़ी। ओस्तापेंको ने आठ सर्विस ब्रेक हासिल किये जबकि हालेप ने छह सर्विस ब्रेक हासिल किये। ओस्तोपेंको के 54 विनर्स ने मैच में सारा अंतर पैदा कर दिया। उन्होंने सेमीफाइनल में तिमिया बासिंस्की के खिलाफ 50 विनर्स लगाए थे और फाइनल में उन्होंने 54 विनर्स झोंक दिये।  



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !