अश्विन के खराब प्रदर्शन को लेकर कोहली ने तोड़ी चुप्पी

Monday, June 19, 2017 1:18 PM
अश्विन के खराब प्रदर्शन को लेकर कोहली ने तोड़ी चुप्पी

लंदन: चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में पाकिस्तान से हार मिलने के बाद भारतीय स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन की गेंदबाजी को लेकर आलोचना होने लगी। जिस पर कप्तान कोहली ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि इस प्रारूप में सपाट पिचों पर गेंदबाजी करने की चुनौती को देखते हुए उनकी आलोचना करना अनुचित है। युवा बल्लेबाज फखर जमां ने अश्विन को निशाना बनाया जिससे इस आफ स्पिनर ने कल चैम्पियंस ट्राफी फाइनल में भारत की 180 रन की हार के दौरान 10 आेवर मे 70 रन खर्च किए जबकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। अश्विन ने टूर्नामेंट में तीन मैचों में सिर्फ एक विकेट हासिल किया जबकि इस दौरान उन्होंने 29 आेवर में 167 रन खर्च किए। वह अपने पिछले 10 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में सिर्फ नौ विकेट हासिल कर पाए हैं।  

बल्लेबाज लय में आए तो स्पिनर के लिए होती है मुश्किल
कोहली से जब यह पूछा गया कि क्या वनडे में खराब रिकार्ड को देखते हुए अश्विन को अपनी योजनाओं पर दोबारा काम करना होगा तो उन्होंने इस सीनियर गेंदबाज का बचाव करते हुए कहा,  ‘‘सपाट पिच पर प्रत्येक स्पिनर को चुनौती का सामना करना पड़ता है और प्रत्येक स्पिनर के खिलाफ रन बनते हैं। विशेषकर इस तरह के विकेटों पर जहां अगर बल्लेबाज लय में आ जाए तो स्पिनर के लिए काफी मुश्किल हो जाती है और एक्रास द लाइन स्लाग करने के बाद भी बल्लेबाज आउट नहीं होते।’’ उन्होंने कहा कि आप स्पिनर के रूप में काफी कुछ नहीं कर सकते क्योंकि आप उसे वहीं खिला रहे हो जहां खिलाना चाहते हो लेकिन इसके बावजूद वह शाट खेल रहा है। कोहली ने दो स्पिनरों को खिलाने के फैसले का भी बचाव किया जब उन्होंने 18 आेवर में 147 रन लुटाए।  

मुझे कोई मलाल नहीं
उन्होंने कहा कि श्रीलंका के खिलाफ हार के बाद हमने संयोजन तैयार किया था। दो स्पिनरों ने हमारे लिए अच्छा प्रदर्शन किया था। हमने जो संयोजन खिलाया उसे लेकर मुझे कोई मलाल नहीं है और श्रीलंका के खिलाफ हार के बाद से हम उसी संयोजन के साथ खेल रहे थे। शीर्ष तीन बल्लेबाज एक साथ नाकाम रहे और इसमें कोई हैरानी नहीं कि कप्तान इससे निराश हैं। उन्होंने कहा कि बेशक जब आप आउट हो जाते हो या बल्लेबाजी सामूहिक रूप से नहीं चलती को बुरा लगता है। टीम के लिए योगदान नहीं देने पर सभी को बुरा लगता है। कोहली ने निराशा जताते हुए कहा, ‘‘हां, मैं भी इसी तरह की भावनाओं को महसूस करता हूं लेकिन आपको पता है कि आपने पर्याप्त खेल लिया है कि आप समझ सको कि आपकी भूमिका क्या है, आप अपना सर्वश्रेष्ठ करते हो और इसके बाद किसी चीज पर आपका नियंत्रण नहीं होता।’’  




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !