ओस्तापेंको ने फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचते ही रच दिया इतिहास

Thursday, June 8, 2017 9:58 PM
ओस्तापेंको ने फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचते ही रच दिया इतिहास

पेरिस: लात्विया की येलेना ओस्तापेंको ने स्विटजरलैंड की तिमिया बासिंस्की को गुरुवार को कड़े संघर्ष में 7-6, 3-6, 6-3 ये हराकर फ्रेंच ओपन के महिला एकल वर्ग के फाइनल में पहुंचने के साथ ही इतिहास रच दिया। ओस्तापेंको ने अपने 20 वें जन्मदिन का जश्न रौलां गैरो में इतिहास रचने के साथ मनाया। गैर वरीयता प्राप्त ओस्तापेंको इसके साथ ही किसी ग्रैंड स्लेम के फाइनल में पहुंचने वाली लात्विया की पहली खिलाड़ी बन गयी हैं। 

ओस्तापेंको 2007 में एना इवानोविच के बाद फ्रेंच ओपन के फाइनल में पहुंचने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बन गयी हैं। लात्वियाई खिलाड़ी ने मैच में तीन एस लगाये ,तीन डबल फाल्ट किये। अपनी पहली सर्विस पर 55 फीसदी अंक जीते, दूसरी सर्विस पर 40 फीसदी अंक जीते, 15 ब्रेक अंकों में से आठ को भुनाया, 14 ब्रेक अंकों में से छह बचाये, 50 विनर्स लगाये और 45 बेजां भूलें कीं।  बासिंस्की ने मैच में पांच एस लगाये ,एक डबल फाल्ट किया, अपनी पहली सर्विस पर 51 फीसदी अंक जीते, दूसरी सर्विस पर 44 फीसदी अंक जीते, 14 ब्रेक अंकों में से आठ को भुनाया, 15 ब्रेक अंकों में से सात बचाये ,22 विनर्स लगाये और 19 बेजां भूलें कीं।  

ओस्तापेंको ने दिन के अपने 50 वें विनर से बासिंस्की की सर्विस तोड़ी और अपने पहले मेजर फाइनल में स्थान बना लिया। उन्होंने यह मुकाबला दो घंटे 24 मिनट में जीता। ओस्तापेंको ने पहले सेट का टाई ब्रेक 7-4 से जीतने के बाद दूसरा सेट 3-6 से गंवा दिया लेकिन निर्णायक सेट में लात्वियाई खिलाड़ी ने शानदार वापसी की और बासिंस्की को कोई मौका नहीं दिया। विश्व में 47 वें नंबर की ओस्तापेंको इसके साथ ही 1983 के बाद से फ्रेंच ओपन के महिला एकल फाइनल में पहुंचने वाली पहली गैर वरीयता प्राप्त खिलाड़ी बन गयी हैं। ओस्तापेंको का फाइनल में दूसरी सीड चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिसकोवा और तीसरी सीड रोमानिया की सिमोना हालेप के बीच दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से मुकाबला होगा।  
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!