जालंधर के अभिनव मनोता ने जीता न्यूजीलैंड बैडमिंटन ओपन

Sunday, May 7, 2017 9:01 AM
जालंधर के अभिनव मनोता ने जीता न्यूजीलैंड बैडमिंटन ओपन

जालंधर: वर्ष 2014 में पंजाब के जालंधर से क्राइस्टचर्च शिफ्ट हुए भारतीय बैडमिंटन सनसनी अभिनव मनोता ने हाल ही में संपन्न न्यूजीलैंड नेशनल बैडमिंटन ओपन चैंपियनशिप में एडवर्ड लाउ को हराकर खिताब जीता।   

मनोता की गिनती आज न्यूजीलैंड के शीर्ष क्रम के बैडमिंटन खिलाड़ियों में होती है। वह खिताबी मुकाबले में पहले सेट में ही 20-4 से बड़ी लीड से आगे चल रहे थे और इसी दौरान चोट के कारण लाउ को मैदान छोडऩा पड़ा। इसके बाद मिश्रित युगल के फाइनल में भी मनोता और जस्टिन विलगैस की जोड़ी ने लाउ और एलिसा टागले की जोड़ी को 21-17, 21-17 से पराजित किया।  भारतीय बैडमिंटन की यह सनसनी इस टूर्नामेंट में अपनी हैट्रिक लगाने से चूक गई। 

दरअसल, उनके पुरुष युगल के जोड़ीदार डिलन सोदेजासा को एक कड़े मैच में ओशिनिया जूनियर चैंपियन ऑस्कर गुओ और डैकमेन वोंग के हाथों हार का सामना करना पड़ा। 53 मिनट तक चले मुकाबले का स्कोर 21-18, 20-22, 26-24 रहा। हाल ही में 25 साल के हुए मनोता नॉर्थ शोर बैडमिंटन एसोसिएशन के विकास अधिकारी के तौर पर काम करते हैं। वह अपने शानदार प्रदर्शन का श्रेय वर्षों की कड़ी मेहनत को देते हैं। क्राइस्टचर्च जाने से पहले वे पंजाब स्टेट बैडमिंटन चैंपियन भी रह चुके हैं।  अपने अब तक के सफर के बारे में बताते हुए मनोता कहते हैं कि उन्होंने अपनी पढ़ाई के साथ-साथ बैडमिंटन खेलना जारी रखा। पंजाब से आने के बाद कुछ समय तक मैने बैडमिंटन नही खेला। 

उन्होंने कहा, आजकल वह हर दिन कम से कम 4 घंटे अभ्यास करते हैं और न्यूजीलैंड बैडमिंटन की ओर से हमें पूरा सहयोग भी मिलता है।  मनोता ने कहा कि मैं अभी भी एक न्यूजीलैंड का निवासी हूं और ओलंपिक या राष्ट्रमंडल जैसे टूर्नामेंट में देश का प्रतिनिधित्व नहीं कर सकता। हालांकि इस साल मेरा इरादा कम से कम 3-4 ओपन टूर्नामेंट खेलने का हैं, जिसमें बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन के ग्रां प्री गोल्ड, ग्रांड प्रिक्स सीरीज और सुपर सीरीज शामिल हैं।  उल्लेखनीय है कि मनोता ने पिता लवलीन कुमार भी राष्ट्रीय स्तर के बैडमिंटन खिलाड़ी रह चुके हैं और इस समय वह पंजाब राज्य पावर कारपोरेशन लिमिटेड (पीएसपीसीएल) में कार्यरत हैं।  
 
 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!