हकीकत बन गई आग की मॉक ड्रिल,आठ घायल

Thursday, April 20, 2017 7:21 PM
हकीकत बन गई आग की मॉक ड्रिल,आठ घायल

देहरादून: उत्तराखंड के देहरादून जिले के रायपुर-थानो मार्ग पर सोडा-सरोली गांव के समीप जंगल में आग लगने और उसे समय रहते काबू पाने को लेकर की गई मॉक ड्रिल के दौरान उस समय अफरातफरी मच गई जब आग वास्तव में बेकाबू हो गई और चारों ओर भगदड़ मच गई जिसमें तीन पत्रकारों समेत आठ लोग घायल हो गए।

वनकर्मी और फायर ब्रिगेड के कर्मचारी आज मॉक ड्रिल के दौरान आग लगा कर उसे बुझाने का अभ्यास कर रहे थे। अधिकारी और विशेषज्ञ कर्मचारियों को समय-समय पर दिशा-निर्देश भी दे रहे थे। वहां तमाम विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ ही मॉक ड्रिल को कवरेज करने के लिए पत्रकार भी मौजूद थे, तभी अचानक तेज हवा चलने लगी।

तेज हवा ने आग को और भड़का दिया 7 हवा के कारण आग का रुख आग बुझाने वाले कर्मियों और कवरेज कर रहे मीडिया कर्मियों की ओर हो गया। अचानक भड़की आग से मॉक ड्रिल कर रहे कर्मियों समेत पत्रकार कुछ समझ पाते, आग उनकी और तेजी से फैलने लगी। सभी वहां से जान बचाने के लिए भागे। इस आपाधापी में कई लोग इधर-उधर गिर पड़े।

इस घटना में तीन पत्रकार समेत आठ लोग घायल हुए, जिनमें वनकर्मियों के साथ पुलिस के कर्मचारी भी शामिल हैं। मॉक ड्रिल के दौरान चोटिल दो कर्मचारियों को  एम्बुलेंस के जरिए नजदीकी अस्पताल में ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई। हालांकि पूर्व तैयारी के कारण कोई बड़ा नुकसान नहीं हो पाया। सभी को मौके पर राहत और उपचार मिल गया। अगर यह मॉक ड्रिल न होती तो कोई भी बड़ा हादसा हो सकता था। यह मॉक ड्रिल राष्ट्रीय आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के सहयोग से आपदा प्रबन्धन विभाग द्वारा वनाग्नि से सुरक्षा के सबन्ध में राज्य स्तर पर किया गया था।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!