चौथी बार सच हुई पंजाब केसरी की भविष्यवाणी

Wednesday, January 31, 2018 2:33 PM
चौथी बार सच हुई पंजाब केसरी की भविष्यवाणी

ज्योतिष के मोदिनी खण्ड अनुसार ग्रहण और प्राकृतिक आपदा का गहरा नाता है। मोदिनी ज्योतिष एक ऐसा खण्ड है, जिसमें वर्षा, गर्मी, सर्दी तथा वार्षिक रूप से मौसम का अनुमान तथा प्राकृतिक आपदा से मापदण्ड हेतु प्रयोग में लिया जाता है। इस ज्योतिषीय तकनीक में ग्रहण अथवा ग्रहों के गोचर के आधार पर यह आकलन लगाया जाता है की विश्व के किसी भी क्षेत्र में मौसम अथवा आपदा आने की क्या संभावना है?


बुधवार दिनांक 31 जनवरी 2018 को इस साल का पहला ग्रहण चन्द्र ग्रहण के रूप में आज विद्यमान है। इस संदर्भ में पंजाब केसरी के ज्योतिष आचार्य कमल नंदलाल ने बताया था कि इस ग्रहण का प्रभाव मुख्य रूप से पहाड़ों पर देखने को मिलेगा। आज पड़ने वाल 6.1 मैग्नीट्यूड का भूकंप भारत से जुड़े अफगानिस्तान के हिंदू कुश क्षेत्र में ही आया है। 

PunjabKesari

यह चन्द्रमा की दिशा भी है। आज पड़ा हुआ भूकंप सही मायनों में एकमात्र तबाही का प्रतिरूप है। इस भूकंप से मूलत: पहाड़ी, पठारी और समुद्री क्षेत्र प्रभावी होंगे। आने वाले 40 दिनों में अत्यधिक ठंड ओलावृष्टि तथा पहाड़ों से हिमस्खलन तथा बादल फटने जैसी घटनाएं हो सकती हैं।

 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन