ट्रंप और PM मोदी की मुलाकात चीन पर पड़ सकती है भारी

Sunday, November 12, 2017 6:44 PM
ट्रंप और PM मोदी की मुलाकात चीन पर पड़ सकती है भारी

नेशनल डेस्क: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को मनीला में अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप से संक्षिप्त मुलाकात की। दोनों नेता बड़ी ही गर्मजोशी से मिले और कुछ देर तक अनौपचारिक रूप से चर्चा भी की। सोमवार को दोनों नेताओं की द्विपक्षीय बैठक होनी है। रविवार को आसियान की 50वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में आयोजित रात्रिभोज के दौरान मोदी चीन के प्रधानमंत्री ली केकियांग से भी मिले। 

गौरतलब है कि आसियान समिट के लिए कई देशों के नेता फिलीपींस की राजधानी पहुंचे हैं। पीएम मोदी रिसेप्शन के दौरान जापान के पीएम शिंजो आबे, रूस के प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव और मलयेशिया के पीएम नजीब रजाक के साथ भी बात करते दिखे। फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुर्तेते ने दुनियाभर से जुटे नेताओं के लिए यह रिसेप्शन रखा था। 
PunjabKesariपीएम और ट्रंप की मुलाकात अहम 
पीएम की 5 महीने के भीतर अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ यह दूसरी मुलाकात है। यह मुलाकात काफी अहम मानी जा रही है जिसकी वजह यह है कि ट्रंप के आने के बाद अमेरिका ने दक्षिण एशिया की नीति में बदलाव किया है और उसमे भारत की ओर झुकाव दिखता है। मोदी और ट्रंप की मुलाकात को चीन के मद्देनजर भी बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है क्योंकि चीन को अंतर्राष्ट्रीय मंच पर घेरने के लिए अमेरिका इन दिनों जापान, ऑस्ट्रेलिया और भारत के साथ एक चतुर्पक्षीय गठबंधन बनाने के प्रस्ताव पर काम कर रहा है। इसके साथ ही दोनों देश हिन्द महासागर में चीन की बढ़ती गतिविधियों को रोकने के मुद्दे पर भी चर्चा कर सकते हैं।
PunjabKesari
ट्रंप कर चुके हैं मोदी की तारीफ
मनीला रवाना होने से पहले पीएम मोदी ने कहा था कि फिलीपींस की उनकी यात्रा एक्ट ईस्ट पॉलिसी के तहत आसियान सदस्य देशों और हिंद-प्रशांत क्षेत्र के साथ रिश्ते मजबूत करने के लिए देश की प्रतिबद्धता का प्रतीक है। पीएम कल डोनाल्ड ट्रंप के साथ द्विपक्षीय वार्ता भी करेंगे। बता दें कि शुक्रवार को ट्रंप ने मोदी की तारीफ करते हुए कहा था कि वे इतने विशाल देश के लोगों को एक साथ लेकर आगे बढ़ रहे हैं। 
PunjabKesariपीएम ने सोशल मीडिया पर शेयर की तस्वीरें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद नेताओं से मुलाकात की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की हैं। एक तस्वीर में मोदी, ट्रंप और शिंजो आबे समेत कई अन्य नेता बात करते दिख रहे हैं। सोमवार को ट्रंप और मोदी की होने वाली मुलाकात काफी महत्वपूर्ण है। इस दौरान पारस्परिक हितों के कई मुद्दों पर चर्चा होगी। सबसे खास हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा का मुद्दा है, जहां वॉशिंगटन भारत की बड़ी भूमिका चाहता है। 

बैठक में कई देश लेंगे भाग
मोदी  इंदिरा गांधी के बाद फिलीपींस की यात्रा पर आने वाले भारत के दूसरे प्रधानमंत्री हैं। वह कल फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते से भी मुलाकात कर सकते हैं जो वर्तमान समय में आसियान के अध्यक्ष हैं। मोदी क्षेत्रीय समग्र आर्थिक साझेदारी की बैठक में भी भाग लेंगे जिसमें आसियान के 10 सदस्य देशों के अलावा चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया तथा न्यूजीलैंड के प्रतिनिधि भाग लेंगे। इस बैठक में आसियान के सदस्य देशों के बीच आर्थिक साझेदारी को नयी दिशा देने पर विचार-विमर्श होगा और व्यापारिक अड़चनों को दूर करने के प्रयास किए जाएंगे ताकि लोगों इसका फायदा मिल सके और उत्पादों के आयात-निर्यात में बढ़ोतरी हो सके। 

 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!