विश्व प्रसिद्ध नीम करौली बाबा की तपस्थली पर 15 जून को मेले का आयोजन

Monday, June 12, 2017 6:12 PM
विश्व प्रसिद्ध नीम करौली बाबा की तपस्थली पर 15 जून को मेले का आयोजन

नैनीताल: टिम कुक और स्टीव जॉब्स समेत असंख्य कामयाब विदेशियों की आस्था के श्रोत कैंची धाम  में हर वर्ष धूमधाम से स्थापना दिवस मनाया जाता है। नीम करौली बाबा की तपोस्थली पर हर वर्ष 15 जून को मेले का आयोजन होता है जिसमें लाखों की संख्या में देशी और विदेशी भक्त पहुंचते है। भक्तजन यहां आकर अपनी श्रद्धा व आस्था का परिचय देते हैं।

कहा जाता है कि यहां पर श्रद्धा भाव से की गई पूजा कभी भी व्यर्थ नहीं जाती। यहां पर मांगी गई मन्नते पूरी तरह से फलदाई बताई जाती है। ‘बाबा नीम किरौली महाराज’ महान योगीराज थे जो भगवान हनुमान के परम भक्त थे। बाबा नीब करौली महाराज पर लोगों की बड़ी आस्था है। यहां ना सिर्फ भारतीय बल्कि विदेशी भक्तों की भी दर्शनों के लिए आते हैं।

कहा जाता है कि एक बार यहां आयोजित भण्डारे में ‘घी’ की कमी पड़ गई थी। बाबा जी के आदेश पर नीचे बहती नदी से कनस्तर में जल भरकर लाया गया। उसे प्रसाद बनाने के लिए जब उपयोग में लाया गया तो वह जल ‘घी’ में परिवर्तित हो गया। इस चमत्कार से आस्थावान भक्तजन नतमस्तक हो गए।

मंदिर के प्रबंधक विनोद जोशी ने बताया कि 15 जून सन 1965 में पहली बार कैंची मंदिर में महाराज जी द्वारा भण्डारे का आयोजन हुआ था और तब से ही ये भण्डारा चलते आ रहा है। उन्होंने बताया कि बाबा जी के समय में भी इतनी भक्तों की भीड़ नहीं रहती थी लेकिन महाराज जी के जाने के बाद इस मेले ने  व्यापक रूप ले लिया। अब भक्तों की संख्या लगभग 25 प्रतिशत हर वर्ष बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा कि नैनीताल की एक छोटी सी घाटी में इतनी बड़ी संख्या में भक्त महाराज के दर्शन करने के लिए पहुंचते है ये सब महाराज की कृपा है।

बता दें कि फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग और एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब की प्रेरणा का स्थल कैंची धाम ही हैं। यहां नीम करौली बाबा का कैंची धाम आश्रम इनके अलावा कई सफल लोगों के लिए प्रेरणा श्रोत साबित हुआ। एप्पल की नींव रखने से पहले स्टीव जॉब कैंची धाम आए थे। यहीं उनकों कुछ अलग करने की प्रेरणा मिली थी।

जिस वक्त फेसबुक फाउंडर मार्क जुकरबर्ग फेसबुक को लेकर कुछ तय नहीं कर पा रहे थे तो स्टीव जॉब ने ही उन्हें कैंची धाम जाने की सलाह दी थी। उसके बाद जुकरबर्ग ने यहां की यात्रा की और एक स्पष्ट विजन लेकर वापस लौटे। फेसबुक फाउंडर मार्क जुकरबर्ग और एप्पल के संस्थापक स्टीव जॉब के अलावा भारी संख्या में विदेशी साधक नीम करौली महाराज से जुड़ रहे हैं।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!