महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है कोई जगह: तसलीमा

Tuesday, February 13, 2018 11:34 PM
महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं है कोई जगह: तसलीमा

नई दिल्ली : मशहूर लेखिका तसलीमा नसरीन ने राजधानी में दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की एक छात्रा के साथ चलती बस में छेड़छाड़ और अश्लील हरकत पर मंगलवार को कहा कि महिलाएं कहीं भी सुरक्षित नहीं है चाहे वह घर की चारदीवारी में क्यों न हो।

नसरीन ने ट्वीट किया कि महिलाओं के लिए बस, ट्रेन, गलियां, भीड़भाड़ वाली जगह, सुनसान जगह, रात का समय, दिन का समय, स्कूल, ऑफिस, यहां तक की घर भी सुरक्षित नहीं है। इस सबका कारण पुरुष हैं। उन्हें स्त्री जाति से द्वेष कम करना चाहिए ताकी आधी आबादी सुरक्षित रह सके। उन्होंने लिखा कि एक व्यक्ति यात्रियों से भरी बस में अश्लील हरकत करता है। दुष्कर्म के इस युग में इसे बड़ा अपराध नहीं माना जाना चाहिए।

गौरतलब है कि डीयू की एक छात्रा ने अधेड़ व्यक्ति के खिलाफ चलती बस में छेड़छाड़ और अश्लील हरकत करने का मामला दर्ज कराया है। लड़की ने बस के चालक और कंडक्टर के अलावा यात्रियों से भी मदद की गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसकी सहायता नहीं की। छात्रा ने उस व्यक्ति की हरकत की वीडियो भी बनाई। महिला आयोग की मध्यस्थता के बाद वसंत विहार थाने में इस बाबत मामला दर्ज किया गया है। यह घटना सात फरवरी की है और 10 फरवरी की देर शाम मामला दर्ज किया गया है। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन