कश्मीर में तनाव, कहीं अमरनाथ यात्रा पर न पड़े असर

Friday, April 21, 2017 6:52 PM
कश्मीर में तनाव, कहीं अमरनाथ यात्रा पर न पड़े असर

श्रीनगर: वादिये जन्नत में माहौल काफी तनावपूर्ण है। हालात सुधरने की वजाय और बिगड़ रहे हैं। ऐसे में अमरनाथ यात्रा को लेकर चिंताएं पैदा हो गई हैं। पत्थरबाजी और प्रदर्शनों के बीच अमरनाथ यात्रा प्रशासन और सरकार के लिए चुनौतीपूर्ण कार्य होगा। अमरनाथ यात्रा को लेकर श्राइन बोर्ड, प्रशासन और सरकार तैयारियों में जुटी है। सरकार का कहना है कि घाटी में हालातों पर काबू पाने के प्रयास किए जा रहे हैं। पत्थरबाजों से सख्ती से निपटा जाएगा ताकि यात्रा पर असर न हो।


डिप्टी सीएम डा निर्मल सिंह ने घाटी के हालातों के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार है। वो कश्मीरी युवाओं को पत्थराव के लिए भडक़ा रहा है। कश्मीर घाटी में माहौल खराब करने के लिए पाकिस्तान हर मुमकिन कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि हालात काबू में किए जाएं और घाटी में फिर से शांति बहाल हो।


पिछले वर्ष भी हुई थी हिंसा
पिछले वर्ष आतंकवादी बुरहान वानी के मारे जाने से कश्मीर में हिंसा और तनाव से पूरे छ महीनों तक घाटी का माहौल खराब रहा। अमरनाथ यात्रा पर भी इसका बहुत हद तक प्रभाव रहा। यहां तक कि तीन बार यात्रा निलंबित करनी पड़ी थी। कानून व्यवस्था इस हद तक खराब रही कि यात्रियों को जम्मू आधार शिविर से ही सुरक्षा कारणों से नहीं छोड़ा गया। 8 जुलाई 2016 को आतंकवादी बुरहान वानी मारा गया और उसके बाद हालात खराब होते चले गए।


पर्यटन का सीजन
गर्मियों का सीजन कश्मीर में पर्यटन का सीजन होता है। अमरनाथ यात्रा में आने वाले यात्री कश्मीर के सैंकड़ों घोड़े, खच्चर वालों तथा अन्य लोगों के लिए रोजी-रोटी का साधन होते हैं। कश्मीर अशांति से पर्यटन को काफी नुकसान होता है। राज्य सरकार इस बात को लेकर पूरी तरह से सतर्क है कि इस वर्ष ऐसा कुछ नहीं होने पाए।


सुरक्षा के लिहाज से यात्रा
अमरनाथ यात्रा को लेकर सुरक्षा एजेंसियां भी पूरी तरह से अल्र्ट रहती हैं। आतंकियों के लिए यह एक मौका होता है जब वो बड़े पैमाने पर साजिशों को अंजाम देने की फिराक में लगे होते हैं। केन्द्र सरकार और राज्य सरकार के साथ-साथ सुरक्षा एजेंसियां भी अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के लिए सतर्क रहती हैं। इस बार भी अमरनाथ यात्रा सुरक्षा के लिहाज से काफी संवेदनशील है। कश्मीर में हालात खराब हैं। स्थानीय युवक पत्थराव करने के साथ ही आतंकी खेमों में शामिल हो रहे हैं। ऐसे में प्रशासन और सरकार के लिए अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा एक बड़ी चुनौती है। हांलाकि सरकार ने देशभर के यात्रियों को पूरी सुरक्षा देने का अश्ववासन दिया है और लोगों से अपील की है कि वे निर्भीक होकर यात्रा में शामिल हों।

 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !