झारखंड: भूख से तड़पकर एक और की मौत, घर में नहीं था अन्न का एक दाना

Sunday, October 22, 2017 2:13 PM
झारखंड: भूख से तड़पकर एक और की मौत, घर में नहीं था अन्न का एक दाना

धनबादः सिमडेगा में 11 वर्षीय बच्ची संतोष कुमारी की 'भूख' से मौत का मामला अभी ठंडा भी हुआ था कि अब धनबाद के झरिया में कथित तौर पर 'भूख' से एक रिक्शाचालक की मौत का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार मृतक के परिवार को पिछले एक साल से सरकारी राशन नहीं मिल रहा था। रिक्शाचालक पिछले काफी समय से बीमार चल रहा था और घर में खाने के लिए अन्न का एक दाना भी नहीं था। पत्नी दूसरों के घरों में नौकरानी का काम करके घर का खर्च किसी तरह चला रही थी। मृतक का बड़ा बेटा रवि, रांची में किसी प्राइवेट कंपनी में काम करता है।
PunjabKesari
मृतक बैद्यनाथ दास के पुत्र रवि के मुताबिक उसके पिता के बड़े भाई के नाम पर परिवार का राशन कार्ड निर्गत था लेकिन दो साल पहले उनकी मौत के बाद उनके नाम से जारी राशन कार्ड रद्द कर दिया गया। रकारी राशन बंद होने का कारण पांच सदस्यों के परिवार को चलाने में काफी परेशानी हो रही थी। बताया जाता है कि मृतक के घर में भुखमरी के हालात थे। वहीं मृतक बैद्यनाथ दास की कथित तौर पर 'भूख' से हुई मौत को जिला प्रशासन ने सिरे से खारिज करते हुए कहा कि उसकी मौत भूख से नहीं बल्कि बीमारी की वजह से हुई है। हालांकि, प्रशासन का कहना है कि तीन दिन पहले बैद्यनाथ की पत्नी ने राशन कार्ड के लिए ऑन लाइन आवेदन किया है लेकिन राशन कार्ड अभी जारी नहीं किया गया।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!