झारखंड के किसान जाएंगे इजराईल , बंजर भूमि में खेती के गुर सीखेंगे

Saturday, June 10, 2017 7:59 PM
झारखंड के किसान जाएंगे इजराईल , बंजर भूमि में खेती के गुर सीखेंगे

रांची: झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि उनकी सरकार प्रदेश के सभी जिले से किसानों के पांच-पांच प्रतिनिधियों को उन्नत कृषि की जानकारी लेने के लिए दक्षिण पश्चिम एशियाई देश इजराईल भेजेगी। दास ने जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम, रांची में आयोजित ‘किसान मेला-सह- कृषि जागृति अभियान-2017’ के शुभारंभ कार्यक्रम के मौके पर कहा कि प्रदेश के किसान इजराईल जाकर वहां बंजर भूमि में किए जा रहे कृषि कार्य की जानकारी प्राप्त करेंगे।

उन्होंने राज्य के प्रत्येक प्रखण्ड के 5-5 आर्या/कृषक मित्र/मत्स्य मित्र/बागवानी मित्र को स्मार्ट फोन देने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिले में बेहतर काम करने वाले 3-3 मित्रों को मोटरसाईकिल दिया जाएगा और कृषक मित्र को दिए जा रहे छ: हजार (6000) रुपए वार्षिक मानदेय राशि को दिसंबर में प्रस्तुत होने वाले अगले वर्ष के बजट में बढ़ाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तीन वर्षों में झारखण्ड के सभी किसानों का मृदा स्वास्थ्य कार्ड बन जाएगा। मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनने से जमीन की आवश्यकता के अनुरूप किसान खादों का प्रयोग कर सकेंगे। जोहार योजना के तहत गांव में महिला किसानों को प्रशिक्षित किया जाना है।

दास ने कहा कि भारत की आत्मा गांवों में बसती है। इसमें से अधिकांश लोग कृषि तथा इससे संबंधित कार्यों से जुड़े हैं। राज्य सरकार वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के लिए प्रतिबद्ध है।

आजादी के बाद से देश में औद्योगिकीकरण एवं सिंचाई की बड़ी-बड़ी योजनाओं एवं बांध बनाने की परिकल्पना पर कार्य किया गया लेकिन इससे सभी किसानों के खेतों तक पानी नहीं पहुंचा। वर्तमान सरकार छोटी-छोटी सिंचाई योजनाओं को निश्चित समय-सीमा में कार्यान्वित करने की अवधारणा पर काम करते हुए किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाएगी। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!