''किंग्स'' और ''फार्च्यून'' आयल एजेंसी में खाद्य विभाग का छापा

Wednesday, February 7, 2018 1:04 PM
''किंग्स'' और ''फार्च्यून'' आयल एजेंसी में खाद्य विभाग का छापा

नेशनल डेस्क: इंडिया का नंबर वन खाद्य तेल होने का दावा करने वाली कंपनी 'अडानी विल्मार' की एजेंसी में खाद्य सुरक्षा विभाग ने छापा मारा हैै। छत्तीसगढ़ के रायपुर में इस कंपनी की बहुत बड़ी एजेंसी है, जहां खाद्य विभाग की टीम अपने अधिकारियों के साथ पहुंची। टीम ने कार्रवाई करते हुए करीब चार करोड़ की कीमत वाले उत्पादों को सीज किया है। उत्पादों में जैसे एडिबल ऑयल(कुकिंग ऑयल), खाद्य तेल, सोया(रिफाईंड) और राईस ब्रान ऑयल आदि शामिल हैं।

PunjabKesari

एजेंसी पर आरोप है है कि इन्होंने अपने उत्पादों की बिक्री के लिए गलत ब्रांड और भ्रामक प्रचारों को उपयोग किया है। फिलहाल टीम ने सैंपल लिए हैं। अब लैब रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

PunjabKesari

बता दें कि, बाजारों में बहुचर्चित 'किंग्स' और 'फार्च्यून' ब्रांड के खाद्य तेल इसी एजेंसी से देश में उपलब्ध कराए जाते हैं। तीस साल पहले सन् 1988 में गौतम अडानी ने अडानी ग्रुप की स्थापना की थी। कुछ समय बाद अडानी ग्रुप ने सिंगापुर की विल्मार इंटरनेशल लिमिटेड के साथ अपना व्यापार भारत में शुरू किया, जो कि 'अडानी विल्मार' के नाम से जाना जाता है।

रिपोर्टों के अनुसार, अडानी विल्मार भारत में खाद्य तेलों का सबसे बड़ा निर्माता है, बाजार में इसकी लगभग 20 प्रतिशत हिस्सेदारी है। इनका उत्पादों को प्रमुख ब्रांड 'फार्च्यून' है।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन