डोकलाम विवाद: भारत के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की मांग करने वालों पर भड़का चीन

Thursday, September 14, 2017 12:20 PM
डोकलाम विवाद: भारत के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की मांग करने वालों पर भड़का चीन

पेइचिंग: भारत और चीन दोनों देशों ने डोकलाम विवाद को हल कर लिया है, लेकिन अब चीन ने एेसे संकेत दिए है कि चीन उन हिंसक लोगों से नाखुश है जो डोकलाम विवाद के समय भारत के खिलाफ सैन्य कार्रवाई की पैरवी कर रहे थे। दरअसल, डोकलाम मामले पर भारत के खिलाफ मिलिट्री एक्शन की मांग करने वाले लोगों से चीनी सरकार नाराज है।

सभी प्रतिद्वंद्वियों के साथ सख्त बर्ताव करना जरूरी नहीं
पीपल्स लिबरेशन आर्मी के एक मेजर जनरल के एक बयान से यह बात सामने आई है। मेजर ने कहा था कि भारत के विरोध में बोलने वालों को चीन की रणनीतिक स्थिति के बारे में स्पष्ट समझ नहीं है। चीनी अखबार ग्लोबल टाइम्स में चीनी आर्मी के रणनीतिकार मेजर जनरल कियाओ लियांग ने अपने आर्टिकल में लिखा कि भारत और चीन दोनों पड़ोसी और प्रतिद्वंदी है, लेकिन सभी प्रतिद्वंद्वियों के साथ सख्त बर्ताव करना जरूरी नहीं है।'


डोकलाम विवाद उसी तरह से सुलझा है जैसे उसे सुलझना चाहिए
पीएलए के वरिष्ठ अधिकारी होने के कारण उन्हें चीनी सत्ता के बेहद करीबी माना जाता है और ऐसा भी कहा जा सकता है कि वह चीनी सरकार के इशारों पर ऐसा बोल रहे हैं। गौरतलब है कि चीनी सरकार पर भारत के खिलाफ कार्रवाई न करने को लेकर दबाव है। लियांग का आर्टिकल बेशक उन आलोचकों को सरकार का जवाब माना जा रहा है। लियांग ने लिखा है, 'डोकलाम विवाद उसी तरह से सुलझा है जैसे उसे सुलझना चाहिए था। हमे किसी भी तरह से देश को युद्ध से बचाने की कोशिश करनी चाहिए क्योंकि शांति ही बेहतर रास्ता है।' बता दें कि यह पहली बार है जब डोकलाम विवाद के बाद किसी चीनी सैन्य अधिकारी ने इस मुद्दे पर युद्ध को गैरजरूरी बताया हो।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!