दिल्ली में होगा 'राष्ट्र रक्षा महायज्ञ', J&K और डोकलाम से भी लाई जाएगी जल-मिट्टी

Wednesday, February 14, 2018 9:26 AM
दिल्ली में होगा 'राष्ट्र रक्षा महायज्ञ', J&K और डोकलाम से भी लाई जाएगी जल-मिट्टी

नई दिल्ली: भाजपा मिशन 2019 के लिए देश में अपने पक्ष में माहौल अभी से तैयार कर रही है। इसके लिए भाजपा लाल किले के पास महायज्ञ करने जा रही है लेकिन उससे पहले आज 'जल-मिट्टी रथ यात्रा' रवाना की गई। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह  'जल-मिट्टी रथ यात्रा' को हरी झंडी दिखाई। इस मौके पर उन्होंने कहा कि हम दूसरे देशों में रहने वाले लोगों के दिलों में दहशत पैदा करने के लिए बलवान नहीं बनना चाहते हैं बल्कि हम विश्व गुरु बनना चाहते हैं। राजनाथ ने कहा कि इस रथ यात्रा के जरिए हम देश की सीमाओं की मिट्टी और चार धाम का जल लेकर आएंगे। उन्होंने कहा कि हम देश की एकता और अखण्डता के लिए ये सब कर रहे हैं। इस महायज्ञ के लिए 108 यज्ञ कुंडों के निर्माण किया जाएगा।
PunjabKesari
भाजपा की यह 'जल-मिट्टी रथ यात्रा' देश के कोने-कोने में जाकर मिट्टी और जल इकट्ठा करेगी और इससे ही यज्ञ कुंड तैयार होगा। इस यज्ञ कुंड के लिए जम्मू-कश्मीर के बॉर्डर और डोकलाम की मिट्टी और जल को भी लाया जाएगा। देश के प्रत्येक कोने से मिट्टी-जल इकट्ठा करने के बाद दिल्ली के लाल किले में भाजपा राष्ट्रीय रक्षा महायज्ञ का आयोजन करेगी। राष्ट्रीय रक्षा महायज्ञ देश की रक्षा के लिए सीमा पर तैनात जवानों के त्याग और संर्घष को समर्पित है। 18 मार्च से 25 तक चलने वाले इस महायज्ञ में भगवती बगलामुखी का आह्वान किया जाएगा। बता दें कि मां बगलामुखी राज शक्ति प्रदान करने वाली और शत्रु विनाशिनी है।
PunjabKesari
1111 ब्राह्मण 2.25 करोड़ मंत्रों का करेंगे उच्चारण
इस 108 महायज्ञ कुंड में 1111 ब्राह्मण 2.25 करोड़ मंत्रों का उच्चारण करेंगे। सूत्रों के मुताबिक काफी वर्षों बाद इस तरह बड़े स्तर पर मां बगलामुखी के यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है।
PunjabKesari
पीएम और राष्ट्रपति भी आमंत्रित
इस यज्ञ में देशभर के साधु-संत हिस्सा लेंगे। साथ ही आम जनता से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और नेताओं तक को आमंत्रित किया गया है।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन