चुनावी तूफान के आगे फुस्स हुआ चक्रवात 'ओखी', अलर्ट अब भी जारी

Wednesday, December 6, 2017 9:04 AM
चुनावी तूफान के आगे फुस्स हुआ चक्रवात 'ओखी', अलर्ट अब भी जारी

अहमदाबादः तूफान ओखी के खासा कमजोर पड़ कर इसके एक सामान्य निम्न दबाव के क्षेत्र में तब्दील हो जाने से गुजरात तट से इसके टकरा कर तबाही मचाने का खतरा पूरी तरह टल गया है। मौसम केंद्र के निदेशक जयंत सरकार ने बताया कि ओखी अब मात्र एक सामान्य चक्रवाती प्रणाली के क्षेत्र के तौर पर दक्षिण गुजरात के ऊपर मौजूद है। इसके चलते भारी वर्षा भी नहीं होगी।

सेना, नौसेना, वायुसेना समेत सभी संबंधित एजेंसियां सतर्क
ज्ञातव्य है कि ओखी के गुजरात तट से टकराने की आशंका के चलते राज्य के सूरत जिले और अन्य तटीय क्षेत्रों में व्यापक एहतियाती प्रबंध किए गए थे। सेना, नौसेना, वायुसेना, एनडीआएफ, बीएसएफ समेत सभी संबंधित एजेंसियों को सतर्क कर दिया गया था। इसके चलते हालांकि तटीय जिलों समेत अन्य स्थानों पर हुई वर्षा से रबी फसल तथा मार्केटिंग यार्ड में रखी मूंगफली और अन्य कृषि उत्पादों को खासा नुकसान पहुंचा है। इसके डर से 13000 से अधिक नौकाओं को वापस तट पर बुला लिया गया था। आशंका जताई जा रही थी कि इसके चलते 60 से 70 किमी की गति से हवाएं चलेंगी। पर ऐसा कुछ नहीं हुआ।

PunjabKesari

कमजोर पड़ा ओखी, पर अलर्ट जारी
गहरे दबाव का क्षेत्र सूरत से 240 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में स्थित है। हालांकि तटों पर तूफान के खतरे की चेतावनी को वापस नहीं लिया गया है क्योंकि अभी भी समंदर में तेज हवाएं और भारी बारिश का अंदेशा जताया गया है। प्रदेश के राजस्व विभाग के प्रधान सचिव पंकज कुमार के अनुसार कम से कम नौ जिलों में सुबह से हल्की बारिश हुई है। आधी रात तक तटीय इलाकों में भारी बारिश के साथ 70 से 80 किमी की रफ्तार से हवा चल रही थी। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन यहां भारी बारिश की चेतावनी दी है। गुजरात में सूरत, राजकोट, बलसाड, अहमदाबाद, राजकोट समेत 22 जिलों में मंगलवार शाम से बारिश शुरू है।

PunjabKesari

चुनावी अभियान पर पड़ा असर
गुजरात के चुनावी अभियान पर भी तूफान ओखी का जबरदस्त असर हुआ। इसके प्रभाव से वर्षा होने के कारण कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत कई दिग्गज नेताओं की चुनावी रैलियां भी रद्द हो गई थीं। प्रधानमंत्री की भी सूरत की रैली टल गई है।

उल्लेखनीय है कि मुंबई में ओखी तूफान का असर मंगलवार को दिनभर देखने को मिला। सोमवार रात से लगातार हो रही बारिश के कारण शहर की रफ्तार धीमी हो गई, लेकिन राहत की बात ये रही की इस पूरे तूफान में किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!