2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने कसी कमर

Thursday, January 11, 2018 12:23 PM
2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने कसी कमर

जालंधर (रविंदर): 2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने फिर कमर कस ली है। भाजपा ने विरोधी पार्टियों को धूल चटाने के लिए एक बार फिर मास्टर स्ट्रोक चलने की तैयारी की है। इस मास्टर स्ट्रोक में एक बार फिर से भाजपा के टार्गेट पर युवा वोटर रहेंगे। अपने इस प्लान में भाजपा ने 2 करोड़ वोटरों को शामिल किया है जिनको पार्टी अपने पाले में लाने का प्रयास करेगी। यह 2 करोड़ वोटर वह होंगे जो साल 2000 में पैदा हुए थे और 2019 में होने जा रहे चुनाव में पहली बार अपने मत के अधिकार का प्रयोग करेंगे। इस पूरे प्लान में भाजपा की सोशल मीडिया टीम की मदद ली जाएगी और इस कार्यक्रम को एप के माध्यम से चलाया जाएगा। अभियान का नाम मिलेनियम वोटर कैंपेन रखा गया है। इस कैंपेन को 18 जनवरी को पार्टी लांच करने जा रही है। 2014 लोकसभा चुनाव में भी भाजपा के टार्गेट पर युवा वोटर ही थे। इन युवा वोटरों के बल पर ही भाजपा ने पहली बार देश की सत्ता पर अपने स्तर पर सरकार बनाने की पहल की थी।
PunjabKesari
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के टारगेट पर शुरू से ही युवा पीढ़ी रही है। केंद्र सरकार की नई योजनाओं में सबसे ज्यादा योजनाएं भी युवा पीढ़ी के लिए ही हैं। भाजपा चाहती है कि 2014 में वह जिस तरह से युवा वोटरों को लुभाकर सत्ता में आई थी उसी तरह 2019 में भी पहली बार वोटर बनने वाले युवाओं को पार्टी की नीतियों के साथ जोड़ा जाए। 2014 में पहली बार वोटर बने 70 प्रतिशत युवाओं ने भाजपा को ही वोट डाला था। भाजपा युवा मोर्चा से जुड़े एक कार्यकर्त्ता ने बताया कि इस एप के माध्यम से न सिर्फ नए वोटरों को जोड़ने का काम किया जाएगा बल्कि इसके माध्यम से वोटर आई.डी. कार्ड को भी आसानी से उपलब्ध करवाया जाएगा।
PunjabKesari
इस अभियान पर पूरी पार्टी गंभीर है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने इस मामले में कहा कि हमें पता है कि 2019 का चुनाव पूरी तरह से अलग होगा क्योंकि नई पीढ़ी के युवा भी इसमें शामिल होंगे। हमें उनसे अलग तरीके से बात करने की आवश्यकता है और हम इस पर काम कर रहे हैं। इस सप्ताह भाजपा युवा मोर्चा की एक बैठक में इस पर चर्चा भी की गई। गौर हो कि भाजपा सदी के इन नए वोटरों को लेकर कितनी गंभीर है इसका अंदाजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले मन की बात कार्यक्रम से भी लगाया जा सकता है। उन्होंने कहा था कि सदी के नए वोटरों का भारतीय लोकतंत्र स्वागत करता है।
PunjabKesari
कांग्रेस भी युवा वोटरों के लिए शुरू करेगी कैंपेन
भाजपा के नक्शेकदम पर चलते हुए कांग्रेस भी आने वाले समय में युवा वोटरों पर ध्यान देने जा रही है। 2014 में युवा वोटर पार्टी से इस कदर रूठ गया था कि कांग्रेस अपने इतिहास की सबसे कम सीटों पर सिमट गई थी। अब राहुल गांधी के पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद पार्टी अपना चेहरा मोहरा बदलने की तैयारी में है जिसके तहत ङ्क्षहसा का विरोध करना, हिंदुत्व के रास्ते पर चलना और युवा पीढ़ी को साथ लेकर चलना शामिल हैं।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन