स्टूडैंट को प्राइवेट कोचिंग के लिए किया फोर्स, अब ब्रिटिश स्कूल भरेगा जुर्माना

Sunday, January 7, 2018 2:05 PM
स्टूडैंट को प्राइवेट कोचिंग के लिए किया फोर्स, अब ब्रिटिश स्कूल भरेगा जुर्माना

चंडीगढ़: डिस्ट्रिक्ट कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रैडरेसल फोरम ने मोहाली की रहने वाली एक स्टूडैंट की शिकायत पर द ब्रिटिश स्कूल को जुर्माना किया। स्टूडैंट की शिकायत थी कि स्कूल में उसे प्राइवेट कोङ्क्षचग लेने के लिए फोर्स किया जा रहा था जिस कारण उसने स्कूल छोड़ दिया लेकिन स्कूल ने उसकी फीस वापस नहीं की। अब स्टूडैंट की शिकायत पर कंज्यूमर फोरम ने स्कूल को फीस लौटाने के लिए कहा ही, साथ ही उस पर 10 हजार रुपए जुर्माना भी लगाया है।

क्या है मामला
मोहाली की रहने वाली पूनम अवध ने 8 जुलाई 2014 को स्कूल में 11वीं कक्षा में एडमिशन ली थी। उसने कॉमर्स स्ट्रीम में एडमिशन ली और 2014-15 सैशन के लिए पूरी फीस 50,000 रुपए जमा करवा दी। उसने कुछ समय तक क्लास अटैंड की लेकिन हफ्ते बाद ही स्कूल ने उसे सैक्टर-34 के हैलिक्स इंस्टीच्यूट में कोङ्क्षचग के लिए प्रैशर डालना शुरू कर दिया। उसने इस बारे में अपने पिता से बात की।

पिता ने स्कूल प्रशासन के सामने ये मुद्दा रखा लेकिन स्कूल ने उनकी एक न सुनी। आखिर में उन्होंने अपनी बेटी को स्कूल से हटा दिया। उन्होंने स्कूल से एडवांस में एक साल की जमा की हुई फीस वापस करने की मांग की लेकिन स्कूल प्रशासन ने फीस देने से इंकार कर दिया। आखिर में उन्होंने तंग आकर स्कूल के खिलाफ  कंज्यूमर फोरम में शिकायत दी।

यह कहा फोरम ने
उपभोक्ता फोरम ने कहा कि स्कूल प्रशासन ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि शिकायतकत्र्ता ने उन्हें 50 हजार रुपए फीस तो जमा करवाई थी लेकिन बाकी बचे 8400 रुपए जमा नहीं करवाए। जिस कारण उनके खिलाफ  ऐसी शिकायत दी गई। उनका किसी कोङ्क्षचग इंस्टीच्यूट के साथ टाईअप नहीं है। दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद फोरम ने स्कूल प्रशासन को सेवा में कोताही का दोषी ठहराया और उन्हें 50 हजार रुपए लौटाने के साथ-साथ 10 हजार रुपए जुर्माना और 5 हजार रुपए मुकद्दमा खर्च अदा करने के निर्देश दिए हैं।



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन