आर्थिक आंकड़ों से पहले सतर्कता बरत सकते हैं निवेशक

Sunday, January 7, 2018 12:45 PM
आर्थिक आंकड़ों से पहले सतर्कता बरत सकते हैं निवेशक

मुंबईः उतार-चढ़ाव से भरे बीते सप्ताह के अंतिम दिन अब तक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद होने के बाद आने वाले सप्ताह में घरेलू शेयर बाजार की चाल कच्चा तेल की कीमतों और वैश्विक संकेतकों पर निर्भर करेगी। बजट और आर्थिक उत्पादन तथा खुदरा महँगाई के आंकड़ों से पहले निवेशक सतर्कता बरत सकते हैं। गत सप्ताह बी.एस.ई. का सैंसेक्स 0.28 प्रतिशत यानी 97.02 अंक की साप्ताहिक बढ़त में सप्ताहांत पर 34.153.85 अंक पर बंद हुआ जो इसका अब तक का रिकॉर्ड स्तर है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 0.27 प्रतिशत यानी 28.15 अंक की बढ़त के साथ 10,558.85 अंक के अब तक के रिकॉर्ड स्तर पर बंद होने में कामयाब रहा। सप्ताह के पहले दिन जहां मुनाफावसूली के कारण बाजार में गिरावट देखी गई, वहीं अगले दो दिन दोनों प्रमुख सूचकांक लगभग सपाट रहे। गुरुवार और शुक्रवार को विदेशी बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बाद पर इनमें तेजी रही।

मझौली और छोटी कंपनियों में निवेशकों ने ज्यादा विश्वास दिखाया। बी.एस.ई. का मिडकैप 1.39 प्रतिशत चढ़कर 18,070.03 अंक पर और स्मॉलकैप 2.47 प्रतिशत की मजबूती के साथ 19,704.92 अंक पर पहुंच गया। आगामी सप्ताह में 12 जनवरी को दो महत्त्वपूर्ण आर्थिक आंकड़े आने हैं। नवंबर 2017 के बुनियादी उद्योगों की उत्पादन वृद्धि दर उत्साहजनक रही है और औद्योगिक उत्पादन दर के विस्तृत आंकड़े शुक्रवार को जारी किये जायेंगे। साथ ही दिसंबर के खुदरा महंगाई के आंकड़े भी उसी दिन जारी होंगे। महँगाई के मोर्चे पर झटका लग सकता है क्योंकि इसके बढऩे की आशंका है। इससे पहले पूरे सप्ताह निवेशकों की नजर विदेशी शेयर बाजारों और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कच्चा तेल की कीमतों पर रहेगी। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन