किसानों की अटकले खत्म, रबी सीजन में लगा सकेंगे धान की फसल

Monday, December 25, 2017 2:05 PM
किसानों की अटकले खत्म, रबी सीजन में लगा सकेंगे धान की फसल

नई दिल्लीः अटकलों का दौर खत्म हो चुका है। रबी सीजन यानि गर्मी में किसान धान की फसल लगा सकते हैं। लेकिन इसके लिए शासन, प्रशासन की ओर से सिंचाई सुविधा का लाभ नहीं मिल पाएगी। शासन ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि जलाशयों में पानी कम है, इसका उपयोग निस्तारी के लिए किया जाएगा। जिला प्रशासन अधिकारियों का यह कहना है कि कृषि विभाग की सहमति से किसान धान की फसल लगा सकते है, तर्क यह है कि कृषि विभाग को मालूम है कि किस क्षेत्र में धान की फसल ली जाती है और गर्मी में पेयजल समस्या आ सकती है और किस क्षेत्र में नहीं? इसके लिए पीएचई अधिकारियों से चर्चा कर सहमति दी जाएगी। ताकि बाद में उस क्षेत्र के रहवासी समस्या की शिकायत न करें। 

जिले के ज्यादातर किसान अब भी उलझनों में फंसे हैं कि खरीफ सीजन के बाद रबी फसल में धान की फसल लगाएं या नहीं? यह सही है कि जिले के चार ब्लाॅक सूखाग्रस्त घोषित होने के बाद शासन ने धान फसल की बजाए दलहन-तिलहन को बढ़ावा देने कृषि विभाग व जिला प्रशासन को सख्त निर्देश दिए हैं। लेकिन धान फसल लगाना प्रतिबंध नहीं किया गया है। कृषि मंत्री से लेकर अधिकारियों का कहना है कि शासन की ओर से जारी आदेश में धान फसल लगाने पर प्रतिबंध नहीं लगाया गया है।

इस बार जलाशयों में पानी भराव की क्षमता कम 
जिला संयुक्त कलेक्टर राजेश नसीने का कहना है कि जहां पेयजल की समस्या उत्पन्न नहीं होगी, वहां सबंधित विभाग से मार्गदर्शन लेकर किसान धान की फसल लगा सकते है। इस बार सूखे की स्थिति को देखते हुए धान की जगह किसानों को दलहन-तिलहन फसल लगाना चाहिए।

कृषि एवं जल संसाधन मंत्री बृजमोहन अग्रवाल का कहना है कि रबी सीजन में धान की फसल लेने पर किसी तरह का प्रतिबंध नहीं है। जहां पेयजल और निस्तारी के लिए पानी की समस्या है, वहां शासन ने रबी की धान की फसल को हतोत्साहित करने के लिए जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए है। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन