पुतिन ने खोले अपनी जिंदगी के राज, शौक जानकर रह जाएंगे हैरान !

Sunday, June 18, 2017 3:24 PM
पुतिन ने खोले अपनी जिंदगी के राज, शौक जानकर रह जाएंगे हैरान !

मॉस्कोः  रूस के राष्ट्रपति पुतिन बचपन से ही  देश की खुफिया एजेंसी KGB के जासूस बनना चाहते थे। अपने एक नए एक इंटरव्यू में पुतिन ने न केवल राजनैतिक और अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर बात की, बल्कि अपने परिवार, बचपन और शौक के बारे में भी खुलकर बात की। पुतिन अपने निजी जीवन के बारे में सार्वजनिक तौर पर बहुत कम ही कुछ बताते नजर आते हैं।

अमरीका के फिल्म निर्देशक और पटकथा लेखक ऑलिवर स्टोन को दिए गए अपने इस इंटरव्यू में पुतिन ने उस दौर के बारे में भी बताया, जब वह KGB के लिए बतौर अंडर-कवर एजेंट काम कर रहे थे। पुतिन ने बताया कि फिल्में देखकर उनके अंदर जासूस बनने की इच्छा पैदा हुई। मालूम हो कि 1985 से 1990 तक पुतिन एक अंडर-कवर जासूस थे और फिर सोवियत के पतन के बाद वह लेफ्टिनेंट कर्नल के पद पर रहते हुए KGB से रिटायर हुए। इसके बाद फिर 90 के दशक में उन्होंने दोबारा FSB के प्रमुख की हैसियत से भी काम किया। KGB खत्म होने के बाद FSB रूस की खुफिया एजेंसी थी। 

'रशिया टाइम्स' के मुताबिक, पुतिन ने बताया कि वह 1975 में KGB के साथ जुड़े थे। पुतिन का कहना है कि KGB के लिए काम करना उनका बचपन का सपना था। पुतिन ने बताया, 'KGB में शामिल होने की इच्छा से ही उन्होंने कानून की पढ़ाई की। वह जब स्कूल में पढ़ते थे, तब एक दिन अकेले ही लेनिनग्राद (वर्तमान सेंट पीटर्सबर्ग) स्थित KGB ऑफिस पहुंच गए और अधिकारियों से पूछा कि KGB में शामिल होने के लिए क्या करना होगा।अधिकारियों ने   कहा कि इसके लिए उन्हें उच्च शिक्षा हासिल करनी होगी और कानून की भी पढ़ाई करनी होगी।' इसके बाद जब पुतिन ने कानून की पढ़ाई खत्म की, तब KGB ने खुद उन्हें संपर्क कर उनके सामने नौकरी का प्रस्ताव रखा।  

60  की उम्र में सीखा हॉकी खेलना, स्केटिंग भी सीखी
1999 में पुतिन जब पहली बार प्रधानमंत्री बने, उससे कुछ ही महीने पहले उनके पिता की मौत हो गई। पुतिन का कहना है कि उनके पिता को पहले से आभास था कि वह एक दिन रूस के राष्ट्रपति बनेंगे। पुतिन ने इंटरव्यू में बताया कि 60 साल की उम्र में उन्होंने हॉकी खेलना सीखा। उन्होंने कहा कि वह हमेशा कुछ नया सीखते रहना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि कुछ साल पहले जब उन्होंने पहल-पहल स्केटिंग सीखना शुरू किया, तब उन्हें लगता था कि वह इसे कभी नहीं सीख सकेंगे। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता था कि मैं कभी स्केटिंग करना नहीं सीख सकूंगा। जब मैंने स्केटिंग शुरू की, तो मेरे दिमाग में सबसे पहले यही ख्याल आया कि रुकना कैसे है।' पुतिन ने 2015 में नाइट हॉकी लीग के साथ बर्फ पर हॉकी खेलते हुए अपना 63वां जन्मदिन मनाया था। पुतिन न केवल अपनी फेटनस को लेकर काफी सतर्क रहते हैं, बल्कि अक्सर नए-नए खेलों में हाथ आजमाते रहते हैं। उन्होंने समुद्र की गहराई में डाइविंग भी की है। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!