अपने दिल को जेब में रखकर चलती है ये महिला, वजह सुनकर रह जाएंगे हैरान

Sunday, December 31, 2017 11:32 PM
अपने दिल को जेब में रखकर चलती है ये महिला, वजह सुनकर रह जाएंगे हैरान

लंदन: आपने हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी के बारे जरूर सुना होगा। इस सर्जरी के दौरान एक व्यक्ति का दिल निकाल कर दूसरे व्यक्ति के शरीर अंदर लगा दिया जाता है परन्तु ब्रिटेन में एक महिला ऐसी है, जिसको डाक्टरों ने हार्ट ट्रांसप्लांट करने की बजाय ऐसा नकली दिल लगाया है, जो उसके शरीर अंदर नहीं बल्कि बाहर है। वह अपना दिल एक बैग में ले कर चलती है। 

39 साल की सेल्वा हुसैन ब्रिटेन में अकेली ऐसी औरत है, जिसका दिल शरीर के अंदर नहीं बल्कि शरीर के बाहर है। इतना ही नहीं वह अपना दिल एक बैकपैक में साथ लेकर चलती है। यह डाक्टरों की खास आर्टिफिशियल हार्ट सर्जरी के द्वारा संभव हो पाया है। 
PunjabKesari
इस तरह मिला सेल्वा को आर्टिफिशियल दिल
वास्तव में 2 बच्चों की मां सेल्वा को 6 महीने पहले सांस लेने में काफी मुश्किल हुई थी। उसकी परेशानी इतनी अधिक गई कि उसे तुरंत डाक्टर के पास जाना पड़ा। डाक्टरों ने उसे हार्ट फेलियर की मुश्किल बताई और उनको विश्व प्रसिद्ध ' HARIFIELD' अस्पताल में भेज दिया। यहां डाक्टरों ने सेल्वा को जीवित रखने के लिए काफी मेहनत की। 
PunjabKesari
लगाया गया आर्टिफिशियल दिल
डाक्टरों ने बताया कि सेल्वा की हालत इतनी नाजुक थी कि उसे न तो लाइफ सपोर्ट के जरिए जीवित रखा जा सकता था और न ही उसकी हार्ट ट्रांसप्लांट सर्जरी की जा सकती थी। इसलिए डाक्टरों ने उसे ऐसा सिस्टम लगाया, जो शरीर के बाहर था परन्तु उसका कनेक्शन शरीर के अंदर इस तरह किया गया कि वह बिल्कुल दिल की तरह ही शरीर में खून का संचालन करता है। 

इस तरह काम करता है बैग में रखा यह दिल
सेल्वा अपने साथ जो बैग रखती है उसमें दो बैटरियां, एक मोटर और एक पंप होता है। मोटर की मदद के साथ यह पंप दो पाईप के जरिए शरीर के अंदर लगे प्लास्टिक के दो चैंबर्स तक पहुंचता है, जो शरीर के बाकी हिस्सों तक खून का संचालन करता है। इसके अलावा सेल्वा अपने साथ एक ओर बैग रखती है, जो बैक-अप यूनिट है। मतलब अगर उसका यह सिस्टम कभी खराब हो जाए तो सिर्फ  90 सैकंड के अंदर यह बैक-अप यूनिट लगाना होता है। यही कारण है कि उसका पति और एक सहायक हमेशा उसके साथ रहते है।

सेल्वा का पांच साल का बेटा और 18 महीनों की बेटी है। सेल्वा कहती है,''मैं यह सर्जरी होने से पहले और बाद में काफी बीमार रही। मुझे ठीक होने में काफी समय लगा।'' आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सेल्वा दुनिया की दूसरी ऐसी व्यक्ति है, जिसको आर्टिफिशियल दिल लगाया गया है। 



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन