अमेरिका की ''ग्लोबल टेरर लिस्ट'' में भारतीय का भी नाम शामिल

Friday, June 16, 2017 11:48 AM
अमेरिका की ''ग्लोबल टेरर लिस्ट'' में भारतीय का भी नाम शामिल

नई दिल्ली: अमेरिका ने आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के लिए भारत में आतंकवादियों की भर्ती करने वाले आतंकवादी मोहम्मद शफी अरमर समेत दो अन्य आतंकवादियों को विशेष रूप से वैश्विक आतंकवादी घोषित किया है। अमेरिकी गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक विज्ञप्ति के अनुसार इन आतंकवादियों को कार्यकारी आदेश (ईओ) 13224 की धारा 1 (बी) के तहत नामित किया गया है। इसके अंतर्गत ऐसे आतंकवादियों को नामित किया जाता है जो किसी भी तरह की आतंकवादी गतिविधि में संलिप्त हैं या ऐसा करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और जिनकी गतिविधियों से अमेरिकी नागरिकों की सुरक्षा,राष्ट्रीय सुरक्षा,विदेश नीति एवं अर्थव्यवस्था पर खतरा पैदा हो सकता है। इनके खिलाफ वित्तीय प्रतिबंध भी लगा दिया गया है जिसके तहत इनकी संपत्ति पर पाबंदी लगा दी गयी है और अमेरिकी नागरिकों को उनसे कोई संपर्क करने से मना कर दिया गया है। 

 विज्ञप्ति के अनुसार मोहम्मद शफी को विदेशी आतंकवादी संगठन (एफटीओ) का नेता बताया गया है और उसे वैश्विक आतंकवादी संगठन आईएस के लिए भारत में लोगों की भर्ती करने का जिम्मेदार माना गया है। उसने भारत में आईएस से सहानुभूति रखने वाले कई संगठनों को तैयार करने का भी जिम्मेदार माना जाता है जो पूरे भारत में आतंकवादी गतिविधियों तथा हमलों की साजिश रचने, हथियार खरीदने और आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों के लिए स्थानों की पहचान करने में शामिल रहा है। मोहम्मद शफी अरमर के अलावा अमेरिका ने आतंकवादी ओस्सामा अहमद अतार और मोहम्मद ईसा यूसिफ सकर अल बिनाली को भी इस सूचि में शामिल किया है। विज्ञप्ति के अनुसार ओस्सामा अहमद अतार आईएस का वरिष्ठ नेता हैं और यूरोप में हमले करने के लिए एक नेटवर्क स्थापित कर चुका है। 

मोहम्मद इसा युसिफ अल बिनाली भी आईएस का वरिष्ठ सदस्य है और वह बहरीन में वर्ष 2014 से इस आतंकवादी संगठन में शामिल हुआ था। वह कई बार आईएस के वीडियो में भी दिख चुका है।  उल्लेखनीय है कि इन आतंकवादियों को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के बाद इनसे संबंधित आतंकवादी संगठनों और इनको अलग-थलग करने में सफलता मिलेगी तथा इनके वित्तीय लेन-देन पर भी कड़ी नजर रखी जा सकेगी। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!