चीन की भारत को वॉर्निंग

Monday, March 13, 2017 12:59 PM
चीन की भारत को वॉर्निंग

बीजिंगः चीन ने वॉर्निंग दी है कि उसे घेरने के लिए भारत को अमरीका और जापान के जाल में नहीं फंसना चाहिए। अगर ऐसा होता है तो भारत के लिए और खतरा बढ़ेगा।  चीन के सरकारी अखबार 'ग्लोबल टाइम्स' ने कहा, "हिंद महासागर में चीन को घेरने के लिए वॉशिंगटन भारत का साथ चाहता है। इसी तरह पैसिफिक ओशन में चीन को काउंटर करने जापान, भारत को अपनी तरफ करना चाहता है।" "भारत के लिए ये रणनीतिक मौके हो सकते हैं लेकिन सही मायनों में ये किसी जाल से ज्यादा नहीं है। अगर भारत इसमें फंस गया तो वह अमरीका और जापान की महज एक कठपुतली बनकर रह जाएगा। इससे उसे ज्यादा खतरों का सामना करना पड़ेगा।"

"एक देश होने के नाते खुद को एक बड़ी ताकत मानता चाहिए। अगर भारत अपनी सिक्योरिटी के लिए बाहरी फौजों पर भरोसा करता है, तो ये उसके लिए ज्यादा अपमानजनक होगा।"  "भारत के लिए विकास का सबसे अच्छा तरीका है कि वह अपने पड़ोसियों के लिए दरवाजे खुले रखे। साथ ही वह डेवलपमेंट के रीजनल प्रोग्राम्स मसलन 'बेल्ट एंड रोड' (सिल्क रोड) इनीशिएटिव में शामिल हो।"

 आर्टिकल के मुताबिक, "भारत को चीन से बढ़ते गैप को लेकर चिंता है। इसकी वजह है कि चीन लगातार आगे बढ़ रहा है। चीन के रेलवे, पोर्ट्स और हाइड्रोइलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट्स में खासी तरक्की हो रही है।" - ग्लोबल टाइम्स ने ये भी लिखा, "आपसी भरोसे को बढ़ाने के लिए भारत और चीन को केवल एक-दूसरे को जानना ही नहीं बल्कि वे क्या सोचते हैं, ये भी जरूरी है। जब एक देश अपने विकास को लेकर ज्यादा कॉन्फिडेंस हो तो उसके साथ जुड़ने से ज्यादा मौके खुलते हैं।" 
 




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !