भारत से डरा चीन, बैलेस्टिक मिसाइल बनाने में PAK की करेगा मदद

Friday, March 17, 2017 4:34 PM
भारत से डरा चीन, बैलेस्टिक मिसाइल बनाने में PAK की करेगा मदद

बीजिंग: भारत के अग्नि 5 मिसाइल के सफल परीक्षण से डरा चीन अब पाकिस्तान के साथ मिलकर रक्षा अनुसंधान पर काम करेगा। चीन के आधिकारिक मीडिया के मुताबिक चीन अपने ‘सर्वकालिक’ दोस्त पाकिस्तान के साथ बैलिस्टिक मिसाइल, क्रूज मिसाइल और बहुउद्देशीय लड़ाकू विमान के उत्पादन में सैन्य सहयोग बढ़ायेगा। यह खबर एेसे समय आई है जब पाकिस्तान के नए सेना प्रमुख ने चीन के सर्वोच्च अधिकारियों के साथ यहां बात की। पाकिस्तान के सेना प्रमुख का पद संभालने के बाद अपनी पहली चीन यात्रा पर यहां आए जनरल कमर जावेद बाजवा ने कल सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के तहत आने वाले ज्वाइंट स्टाफ डिपार्टमेंट के प्रमुख जनरल फंग फंघुई से मुलाकात की। 

नए सहयोग पर चर्चा 
बाजवा ने चीन के कार्यकारी उप प्रधानमंत्री झांग गाआेली, सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के उपाध्यक्ष जनरल फैन चांगलांग और पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के कमांडर जनरल ली झाउचेंग से भी मुलाकात कर क्षेत्रीय सुरक्षा, आर्थिक रक्षा सहयोग और परस्पर हित के दूसरे मुद्दों पर चर्चा की। फंग ने कहा कि ‘सर्वकालिक’ सामरिक साझेदारी ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय में बदलाव किया है। चीनी सेना में काम कर चुके सैन्य विशेषज्ञ सांग झांगपिंग ने सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स को बताया कि बातचीत से चीन और पाकिस्तान के बीच सैन्य आदान-प्रदान और बढ़ेगा और उनमें गहराई आएगी जबकि इस दौरान सैन्य तकनीक के क्षेत्र में नए सहयोग पर भी चर्चा संभव है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में बैलिस्टिक मिसाइलों, क्रूज मिसाइलों, विमान रोधी मिसाइलों, जहाज रोधी मिसाइलों और मुख्य युद्धक टैंकों के निर्माण को चीन की मंजूरी भी इसके एजेंडे में है। उन्होंने कहा कि चीन और पाकिस्तान के बीच सैन्य सहयोग को भी और बढ़ाया जाएगा खासकर हथियारों और आतंकवाद विरोधी क्षेत्र में।  




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !