चीन का ये खतरनाक कदम बढ़ा सकता है अमरीका का ब्लड प्रैशर !

Thursday, May 18, 2017 6:21 PM
चीन का ये खतरनाक कदम बढ़ा सकता है अमरीका का ब्लड प्रैशर !

बीजिंगः चीन ने एक बार फिर कई देशों की धड़कनें बढ़ा दी हैं। इस वजह से तनाव बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। दरअसल चीन ने साउथ चाइना सी पर रॉकेट लांचर्स तैनात कर दिए हैं। ये लांचर्स निशाने को भांपने के साथ उस पर जोरदार वार करने में सक्षम हैं। चीन ने इस खतरनाक कदम से अमरीका का गुस्सा बढ़़ सकता है। बता दें इससे पहले अमरीका ने इस विवादित हिस्से में ऐसे कार्यों की कड़ी आलोचना करते हुए उसे अपने क्षेत्र से दूर रहने की हिदायत दी थी।

ख़बरों के मुताबिक़ चीन ने इस रॉकेट लॉन्‍चर्स की तैनाती के पीछे जो तर्क दिया है वह अमरीका का ब्‍लड प्रैशर बढ़ा सकता है। चीन का कहना है कि साउथ चाइना सी पर मिलिट्री बेस का निर्माण अपनी सुरक्षा तक ही सीमित रहेगा। चीन का कहना है कि यह द्वीप उसके क्षेत्र में आता है और यहां पर वह जो चाहे कर सकता है।  नोरीनको सीएस/एआर-1 55mm रॉकेट लांचर डिफेंस सिस्टम को स्प्राटल द्वीप समूह के फियरी क्रॉस रीफ पर तैनात किया गया है। चीन इस द्वीप पर अपना हक जताता है, जबकि फिलीपींस, वियतनाम और ताइवान इसका विरोध करते हैं। इन देशों का कहना है कि यह द्वीप उसके हिस्‍से में आता है।

वहीं अमरीका ने चीन की ओर से विवादित साउथ चाइना सी में किए जा रहे मिलिट्री कनस्‍ट्रक्‍शन और मिलिट्री एक्टिविटीज की कड़ी आलोचना की है। साथ ही इस क्षेत्र में नियमित रूप से स्वतंत्र नौपरिवहन के लिए हवाई और समुद्री मार्ग से पेट्रोलिंग करने पर जोर दिया है।  हाल ही में अमेरिका की ओर से साउथ चाइना सी के पास शिप्‍स और एयरक्राफ्ट भेजे गए थे, जिस पर चीन ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। चीन ने अमेरिका को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर अमरीका ने उसके क्षेत्र में घुसने की कोशिश की, तो वह उसे सबक सिखाएगा।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!