इंटरव्यू में सफलता पाने के लिए बड़े काम के हैं ये टिप्स

Monday, December 4, 2017 12:15 PM
इंटरव्यू में सफलता पाने के लिए बड़े काम के हैं ये टिप्स

नई दिल्ली: आज के समय में नौकरी पाना कठिन होता जा रहा है। लोगों में जॉब के लिए कंपीटिशन बढ़ गया है। बढ़ते बेरोजगारी और बाजार की उठापटक के कारण कई बार कर्मचारियों को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ता है। नौकरी खो चुकने के बाद कर्मचारियों के सामने पहली चुनौती खुद को नए सिरे से इंटरव्यू के लिए तैयार करना होता है। इसमें की गई जरा सी चूक की बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। इसलिए इंटरव्यू की तैयारी करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरुरी है। 


कम्युनिकेशन स्किल
एक पुरानी कहावत है, बोलने में होशियार व्यक्ति तो घास भी बेच लेता है, लेकिन गूंगे का तो गुड़ भी नहीं बिकता। यही बात इंटरव्यू के दौरान आपकी कम्युनिकेशन स्किल पर भी लागू होती है। अगर आप सही ढंग से अपनी योग्यता, अनुभव और उपलब्धियों से इंटरव्यू पैनल को अवगत कराते हैं तो आप काफी हद तक खुद को बेच पाने में सफल होते हैं। इंटरव्यू के दौरान बातचीत से अगर आप नियोक्ता को इस बात का भरोसा दिला पाए कि आप दूसरे प्रत्याशियों से अलग हैं और आपको काम पर रखने से उसकी समस्या का समाधान हो जाएगा तो यह बात आपकी उम्मीदवारी को मजबूत करेगी।


टाइम मैनेजमेंट
कुछ लोगों को लगता है कि टाइम मैनेजमेंट का मतलब सिर्फ सही वक्त पर इंटरव्यू देने पहुंचना होता है। वाकई वक्त पर इंटरव्यू देने पहुंचना समय के बारे में आपके नजरिए को दर्शाता है, लेकिन सिर्फ इतना ही काफी नहीं है। टाइम मैनेजमेंट के अपने गुण से अवगत कराने के लिए आपको नियोक्ता को कुछ ऐसे मौकों के बारे में बताना चाहिए जब आपने बेहद कम समय में बहुत ही मुश्किल काम को अंजाम दिया है। बातचीत के क्रम में आप बता सकते हैं कि किसी तरह काम की शुरुआत आप सबसे महत्वपूर्ण कामों की लिस्ट बनाने से करते हैं। उसके बाद साथी कर्मचारियों को उनकी जिम्मेदारियां सौंपते हैं और कैसे निर्धारित समय से पहले काम को पूरा कर लेते हैं। इंटरव्यू की तैयारी के दौरान आप कुछ ऐसे उदाहरणों की अपने दिमाग में रफ आउटलाइन बना सकते हैं जिनसे आपके टाइम मैनेजमेंट के गुण के बारे में पता चलता हो। इंटरव्यू के दौरान ये उदाहरण खोजने के लिए आपको दिमाग पर जोर नहीं डालना पड़ेगा। 


पॉजिटिव एटीट्यूड
इंटरव्यू के दौरान अपनी सोच सकारात्मक रखें। आपकी बॉडी लेंग्वेज भी पॉजिटिव दिखनी चाहिए। कई बार इंटरव्यू पैनल के सदस्य कोई विशेष परिस्थिति सामने रखकर सवाल पूछ लेते हैं, मसलन पूछा जा सकता है कि आपका सुपरवाइजर अगर अचानक नौकरी छोड़ कर चला जाए और काम पूरा करने की डेड लाइन करीब आ रही हो तो आप क्या करेंगे। आपसे किसी दूसरे शहर में ट्रांसफर किए जाने के बारे में भी सवाल किए जा सकते हैं। पुरानी कंपनी छोड़ने का कारण पूछा जा सकता है। ऐसे सवालों के जवाब समझदारी और चतुराई के साथ दिए जाने चाहिए। इसलिए इंटरव्यू की तैयारी के दौरान सभी तरह के सवालों के संभावित जवाबों पर काम करें।  ध्यान रहे, आपके जवाबों में जिम्मेदारी लेने का भाव दिखाई दे, न कि किसी भी तरह का नकारात्मक भाव। 


आत्मविश्वास
आपका पहनावा, इंटरव्यू पैनल के सामने पहुंचने, हाथ मिलाने और अनुभवों को बताने का ढंग आपके आत्मविश्वास को दर्शाता है। इसलिए तैयारी के दौरान इन बिंदुओं पर ध्यान दें। आपका पहनावा साफ-सुथरा और सुविधाजनक होने के साथ-साथ आवेदित पद की गरिमा के अनुकूल होना चाहिए। बातचीत के दौरान आपकी आवाज में कहीं भी लड़खड़ाहट, मायूसी या बेचैनी नहीं दिखनी चाहिए। 


जुटाएं जानकारियां
देश-दुनिया और अपने पेशे की ताजातरीन जानकारियों के साथ-साथ आप जिस संस्थान के लिए इंटरव्यू देने जा रहे हैं, उसके हेडऑफिस, एमडी, ब्रांचेस, चेयरपर्सन और उत्पादों या सेवाओं की भी जानकारी आपको होनी चाहिए। कंपनी की उपलब्ध्यिों और उसके प्रतिस्पर्धियों के बारे में जानकारी रखना भी ठीक रहता है।

 

इन चीजों को न भूलें
जहां इंटरव्यू लिया जाएगा उस जगह का पता
इंटरव्यू कॉर्डिनेटर का मोबाइल नंबर
सीवी की 2 कॉपी
पेन, सादा पेपर और पोसपोर्ट साइज के दो-तीन फोटोग्राफ को अपने पास रखें।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!