इन कोर्सेज के जरिए फ्री में कर सकते है हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई

Wednesday, September 13, 2017 6:29 AM
इन कोर्सेज के जरिए फ्री में कर सकते है हार्वर्ड और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई

नई दिल्ली : आज के बढ़ते इंटरनेट के विस्तार के कारण दुनिया बहुत छोटी हो गई है। अब लोग चाहे कितनी भी दूर क्यों ना हो इंटरनेट के माध्यम से वो आपस में जुड़े ही महसूस करते है। लोगों के लिए विदेश जाकर पढ़ना अब एक सपना नहीं रह गया। इंटरनेट के माध्यम से जुड़ कर लोग ऑक्सफोर्ड और हार्वर्ड में पढ़ने के सपने को साकार कर सकते है। अगर आप भी विदेश जाकर अपने पढ़ने के सपने को पूरा करना चाहते है तो मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स (एमओओसी) के जरिए यह सपना सच कर सकते है। 

ऑनलाइन एजुकेशन के आयाम
वर्तमान समय में ऑनलाइन एजुकेशन के दो आयाम हैं। पहला क्रेडिट कोर्स का है। क्रेडिट कोर्स ऐसे कोर्स होते हैं जिनमें छात्रों का पंजीकरण किया जाता है और फिर ऑनलाइन माध्यम से क्लास ली जाती है। दुनिया के कई जाने-माने विश्वविद्यालय भी ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे क्रेडिट कोर्स कराते हैं। ऐसे ऑनलाइन लर्निंग प्रोग्राम प्रोफेशनल लोगों और ऐसे छात्रों को ध्यान में रखकर बनाए जाते हैं जो खास प्रशिक्षण और सर्टिफिकेशन परीक्षा की तैयारी कर रहे होते हैं। विदेशी भाषाओं, अकाउंटिंग और नर्सिंग की पढ़ाई के लिए ऑनलाइन लर्निंग प्रोग्राम सबसे ज्यादा विख्यात हैं। ज्यादातर लोग अपना करियर शुरू करने के बाद अपने स्किल को बढ़ाने के लिए ऑनलाइन सर्टिफिकेशन कोर्स करने को इच्छुक हैं। ऐसे में ऑनलाइन  लर्निंग की मांग पिछले कुछ सालों में बढ़ गई है।

क्या है मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स
ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड, एमआईटी, आईआईटी सहित दुनियाभर के बड़े से बड़े से विश्वविद्यालयों की पढ़ाई आप घर बैठे कर सकते हैं। मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स के द्वारा आप कोई भी पसंदीदा कोर्स कर सकते हैं। ओपेन कंटेट का मतलब है इंटरनेट पर मौजूद ऐसी जानकारी या पाठ्य सामग्री जो कहीं भी किसी भी यूजर के लिए मुफ्त (या बेहद कम कीमत पर) उपलब्ध हो। इंटरनेट यूजर अपनी जरूरत के हिसाब से उसका प्रयोग कर सकता है और कई मामलों में उसमें बदलाव भी कर सकता है। एमओओसी यानी मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्सेज, ऐडैक्स और इस तरह की दूसरी वेबसाइट्स कोरसेरा, उडासिटी और स्वयं पर उपलब्ध हैं। इनके जरिए ई-लर्निंग के कई नए तरीके अब विकसित हो रहे हैं जैसे सेल्फ-लर्निंग, ऑनलाइन डिस्कशन ग्रुप्स या विकीपीडिया आधारित कोलैबोरेटिव लर्निंग यानी दुनियाभर में बैठे लोगों के साथ मिल-जुलकर की जानी वाली पढ़ाई।

इन संस्थानों के जरिए कर सकते है कोर्स 
ऐडैक्स ने भारत में आईआईटी बॉम्बे, आईआईएम बंगलुरु और बिट्स पिलानी जैसे संस्थानों के साथ साझेदारी की है। इनके कोर्स अब वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। एमओओसीएस के जरिए लोगों को रोजगार मिले इसके लिए भारत की प्रमुख एम्प्लॉयबिलिटी सॉल्युशन कंपनी एसपाइरिंग माइंड्स के साथ एडैक्स ने करार किया है। ऐसे ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफार्मों की कोशिश है कि रोजगार खोजने वाले और रोजगार देने वाले दोनों की जरूरतें पूरी हों। उसी के हिसाब से पाठ्यक्रम तैयार किए जाते हैं।

आईआईटी बॉम्बे 
ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म एडएक्स में आईआईटी बॉम्बे कई तरह के एमओओसी उपलब्ध कराता है। इनमें फाउंडेशन ऑफ डाटा, इंप्लीमेंटेशन ऑफ डाटा, प्रोग्रामिंग बेसिक, फंडामेंटल्स ऑफ कंप्यूटर, थर्मोडानेमिक्स सहित कई और अन्य कोर्स भी उपलब्ध हैं।

आईआईटी कानपुर
आईआईटी कानपुर ने अपना खुद का मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स प्लेटफॉर्म बनाया है। इसके मोकिट कहा जाता है। आईआईटी कानपुर के इस एमओओसी प्लेटफॉर्म में तकरीबन 15 कोर्स ऑफर किए जाते हैं। इनमें टेक्नोलॉजी इनेबल्ड लर्निंग, बेसिक ऑफ अंत्रेप्रेन्योरशिप, हिस्ट्री एंड फिलोशोफी ऑफ साइंस, एमओओसी  ऑन  एमओओसी, क्लाइमेट चेंज एंड पैसिफिक आइलैंड समेत कई तरह के कोर्स शामिल हैं।
स्वयं से सरकार ने एमओओसी में रखा कदम।

जॉन हॉपकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल (डाटा एनालिसिस)
जॉन हॉपकिंस स्कूल के डाटा एनालिसिस कोर्स में एनालिसिस के अलावा स्टैटिस्टिकल तकनीकों के बारे में पढ़ाई कराई जाती है। यह कोर्स बायो स्टैटिक्स के छात्रों के लिए फायदेमंद है। इस कोर्स को पढ़ाने के लिए आर स्टैटिस्टिकल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज का उपयोग किया जाता है। इस कोर्स में करीब 1 लाख छात्र इनरोल हैं

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (इंट्रोडक्शन टू आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस)
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी का आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोर्स ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म उदासिटी द्वारा करवाया जा रहा है। इस कोर्स में आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, स्टैटिस्टिक्स, बायस नेटवर्क, मशीन लर्निंग, इमेज प्रोसेसिंग,कंप्यूटर विजन, रोबोटिक्स के बारे में पढ़ाई कराई जाती है। इस कोर्स में तकरीब 1.6 लाख लोग इनरोल है।

यूनिवर्सिटी ऑफ मिशिगन (मॉडल थिकिंग)
इसमें जानकारी के जटिल जाल को संयोजित कर उसे आसान मॉडल में उपलब्ध कराने के बारे में पढ़ाया जाता है। इस कोर्स में मॉडलिंग कॉन्सेप्ट और विभिन्न के प्रकार के मॉडल के बारे में पढ़ाया जाता है। यह कोर्स 12 हफ्तों का होता है। इस कोर्स में तकरीबन 6 लाख छात्र इनरोल हैं।

हार्वर्ड यूनिवर्सिटी (इंट्रोडक्शन टू कंप्यूटर साइंस)
हार्वर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा इंट्रोडक्शन टू कंप्यूटर साइंस कोर्स ऑनलाइन प्लेटफॉर्म इडएक्स और हार्वर्ड एक्स में करवाया जा रहा है। इसमें कंप्यूटर प्रोग्रामिंग के बेसिक और उससे संबंधित कई अन्य विषयों पर पढ़ाई कराई जाती है। इस कोर्स में सी, पीएचपी, जावा्क्रिरप्ट, सीएसएस, एचटीएमएल और एसएलक्यू लैंग्वेज के बारे में पढ़ाई कराई जाती है। इस कोर्स में तकरीबन 3.48 लाख लोग इनरोल हैं।

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (स्टार्टअप इंजीनियरिंग)
स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा स्टार्टअप इंजीनियरिंग कोर्स ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म कोर्सेरा पर करवाया जा रहा है। इस कोर्स में एक टेक्निकल स्टार्टअप शुरू करने के लिए इंजीनियरिंग स्किस्ल और टूल सेट के बारे में पढ़ाया जाता है। इसमें डेवलपमेंट टूल्स, वेब डेवलपमेंट, टेस्टिंग जैसे विषयों के बारे में पढ़ाई कराई जा रही है। इस कोर्स में तकरीबन 1.7 लाख छात्र इनरोल हैं।

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी (अंडरस्टैंडिंग इकोनॉमिक डेवलपमेंट)
 इस कोर्स में विकास को प्रभावित करने वाले राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक कारणों के बारे पढ़ाया जाता है। इसके अलावा राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक प्रक्रियाओं को प्रभावित करने वाले बाहरी फैक्टर के बारे में भी पढ़ाया जाता है। आर्थिक विकास के लिए विभिन्न देशों द्वारा अपनाए गए तरीकों के बारे में बताया जाता है।




विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !