अब नए शिक्षा कोष के बिना लाखों को नहीं मिल पाएगी नौकरी

Thursday, April 20, 2017 11:55 AM
अब नए शिक्षा कोष के बिना लाखों को नहीं मिल पाएगी नौकरी

नई दिल्ली : शिक्षा के लिए संयुक्त राष्ट्र के विशेष दूत ने चेताया है कि वर्षाें तक ध्यान नहीं देने के कारण 26 करोड़ बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है और 40 करोड़ बच्चे कार्यात्मक रूप से निरक्षर रह गए और अगर शिक्षा को वित्त पोषित करने के बेहतर तरीके नहीं खोजे गए तो 80 करोड़ और युवा 2030 तक नौकरी पाने के लिए जरूरी कौशल सीखे बिना स्कूल छोड़ देंगे। गॉर्डन ब्राउन ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह दुनिया में 1.6 खरब बच्चों का आधा है। उन्होंने कहा कि अगर अभी कदम नहीं उठाए गए तो संयुक्त राष्ट्र का 2030 तक हर बच्चे को माध्यमिक स्कूली शिक्षा सुनिश्चित करने का लक्ष्य 2050 या 2100 तक पूरा नहीं हो सकेेगा। ब्राउन ने नए ‘इंटरनेशनल फाइनेंस फैसिलिटी फॉर एजुकेशन’ बनाने का प्रस्ताव किया है। उनके मुताबिक यह शिक्षा में सालाना तौर पर करीब 10 खबर अमेरिकी डॉलर के निवेश करने के रास्ते खोलेगा और 2030 तक संयुक्त राष्ट्र का लक्ष्य हासिल करने में मदद करेगा। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!