Children’s Day Special: जानिए 14 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है बाल दिवस

Tuesday, November 14, 2017 11:32 AM
Children’s Day Special: जानिए 14 नवंबर को ही क्यों मनाया जाता है बाल दिवस

नई दिल्ली : सारे देश में आज बाल दिवस धूमधाम से मनाया जा रहा है। भारत में बाल दिवस देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल की जंयती के दिन मनाया जाता है, लेकिन क्या आप जानते है कि आजाद भारत में हमेशा से बाल दिवस 14 नवंबर को नहीं मनाया जाता था। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 20 नवंबर को बाल दिवस मनाने की परंपरा है। यूनाइटेड नेशंस के इंटरनेशनल चिल्ड्रन्स डे को एक समय तक बाल दिवस के तौर पर मनाया जाता था। 

20 नवंबर को होता था बाल दिवस
साल 1925 से बाल दिवस मनाया जाने लगा और 1953 में दुनिया भर में इसे मान्यता मिली। संयुक्त राष्ट्र संघ ने 20 नवबंर को बाल दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की, लेकिन यह अन्य देशों में अलग-अलग दिन मनाया जाता है। भारत में भी पहले यह 20 नवंबर को ही मनाया जाता था, लेकिन 1964 में प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के निधन के बाद सर्वसहमति से ये फैसला लिया गया कि जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिन को बाल दिवस के तौर पर माना जाए। क्योंकि पंडित नेहरू को बच्चों से खास लगाव था।

संयुक्त राष्ट्र द्वारा 1954 में शुरू किए गए अंतरराष्ट्रीय बाल दिवस का उद्देश्य दुनिया भर में बच्चों की अच्छी परवरिश को बढ़ावा देना है। भारत में 14 नवंबर को खास तौर पर स्कूलों में तरह-तरह की मजेदार गतिविधियां, फैंसी ड्रेस कॉम्पटीशन और मेलों का आयोजन होता है। चलिए बाल दिवस पर बच्चों से जुड़ी कुछ कोटेशन फिर दोहराते है 

हम बच्चों को सिखाते हैं कि जीवन कैसे जिएं। हमारे बच्चे हमें बताते हैं कि जीवन किस लिए जिएं।
बच्चों के बिना घर क्या है? सन्नाटा।
बच्चे क्या बनेंगे तय करते-करते हम भूल जाते हैं कि वो आज भी कुछ हैं।
बच्चों को प्यार की सबसे ज्यादा जरूरत तब होती है जब वो इसे न पाने वाले काम कर रहे हों।
किसी समाज की गंभीरता को देखने के लिए देखना चाहिए किउस समाज में बच्चों का जीवन कैसा है।


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!