इंटीरियर डिजाइनिंग  में करियर बेहतर संभावनाएं

Saturday, July 15, 2017 6:49 PM
इंटीरियर डिजाइनिंग  में करियर बेहतर संभावनाएं

नई दिल्ली : हम में से बहुत सारे लोग एेसे होगें जिन्हें घरों की साज सज्जा का बहुत शौक होता है। हर चीज कोे नए तरीके से सजाने का शौक। अगर आपको किसी जगह को नए तरीकों से सजाने का शौक है तो यह आपके लिए बेस्ट करियर अॉप्शन साबित हो सकता है। अगर आप के अंदर कलात्मकता और रचनात्मकता है और आप घर, कॉर्पोरेट हाउस या किसी ओर सजावट में एक अलग नजरिया रखते हैं तो इं‍टीरियर डिजाइनर बनकर अपने भविष्य को एक नई दिशा दे सकते है क्योंकि  इंटीरियर डिजाइनिंग  अब सिर्फ घरों की साज सज्जा तक ही सिमित नहीं रह गया है बल्कि समय के साथ इस फील्ड में और भी बहुत संभावनाओं के द्वार खुले है।

किसी भी इमारत को बनाने में आर्किटेक्चर का काम ख़त्म होने के बाद इंटीरियर डिज़ाइनर का काम शुरू होता है।किसी घर, ऑफिस, ऑडीटोरियम, हाल आदि की आंतरिक सज्जा और व्यवस्थित करने की कला को ही इंटीरियर डिजाइनिंग कहते है। समय के साथ इस क्षेत्र में करियर की कई संभावनाएं खुली है।आज इंटीरियर डिजाइनिंग एक तेजी से उभरता हुआ करियर विकल्प बनता जा रहा है। ये अब सिर्फ घरों की सजावट तक ही सीमित नहीं रहा है बल्कि इसका दायरा दिनों-दिन बढ़ता जा रहा है। इसका कार्यक्षेत्र अपार्टमेंट्स, बंगले, कोठी से लेकर ऑफिस, हॉस्पिटल, होटल, रेस्टोरेंट, ऑडीटोरियम और सार्वजानिक स्थलों जैसे म्यूजियम, प्रदर्शनी जैसी आउटडोर गतिविधियों तक फ़ैल चूका है।

ऐसे करे शुरुआत
इंटीरियर डिज़ाइनर अपनी रचनात्मकता और ज्ञान की मदद से किसी भी संस्थान को सुंदर और आकर्षक बनाने का कार्य करता है। इसके लिए व्यावहारिक अनुभव अतिआवश्यक है। इसमें कई तरह के कोर्स जैसे डिग्री और डिप्लोमा करवाए जाते है, उसके बाद शुरुआत में कही से ट्रेनिंग करनी होती है। सामान्यतः इंटीरियर डिज़ाइनर स्वरोजगार के रूप में अपनाने पर ज्यादा लाभ देता है। इसके अलावा एक इंटीरियर डिज़ाइनर को आर्किटेक्चर फार्मों, प्रोडक्शन हाउस, थिएटर आदि में नौकरी के विकल्प भी होते है। इस क्षेत्र में शुरूआती वेतन के रूप में 10 हजार से 15 हजार तक आसानी से मिल जाते है। अनुभव के बाद इसमें अच्छी सैलरी मिलती है।

योग्यता 
इंटीरियर डिजाइनिंग में करियर बनाने के लिए 12 वी क्लास के बाद से ही कई कोर्स शुरू हो जाते है। जैसे इसमें डिप्लोमा और डिग्री दोनों तरह के कोर्स उपलब्ध है। आजकल हर बड़े शहरों में इसके कई कॉलेज खुल गए है जो अलग-अलग नामों  से कई कोर्स संचालित करते है। इनमें दाखिला लेने के लिए आमतौर पर प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाती है जिसके आधार पर एडमिशन दिया जाता है।

इंटीरियर डिजाइनिंग में  विभिन्न कोर्स
बैचलर इन इंटीरियर डिजाईन (5 year)
ग्रैजुएट डिप्लोमा इन डिज़ाइनर फर्नीचर एंड इंटीरियर (4 year)
बैचलर ऑफ़ डिजाईन (4 year)
बीएससी इंटीरियर डिजाइनिंग (3 year)

प्रमुख कॉलेज
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ डिजाईन, अहमदाबाद
जवाहर लाल नेहरु आर्किटेक्चर एंड फाइन आर्ट्स यूनिवर्सिटी, हैदराबाद
जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ़ फेशन टेक्नोलॉजी, बेंगलोर
CEPT यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद
NIFT, दिल्ली

कहां-कहां हैं मौके
अपना घर सजाना किसे अच्छा नहीं लगता? खासकर सेलिब्रिटी और हाई प्रोफाइल लोगों के बीच तो इंटीरियर डिजाइनर से अपने बंगले को खूबसूरत बनवाने का खूब चलन है। इंटीरियर डिजाइनिंग के प्रति लोगों का रुझान इस हद तक बढ़ चुका है। शादी, बर्थडे, एनिवर्सरी जैसे कई आयोजनों में सजावट के लिए इनकी सेवा लेने का चलन भी आजकल जोर पकड़ रहा है। इसलिए इनकी मांग खूब बढ़ रही है।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!