अगले पांच साल में इस फील्ड में मिलेगी लोगों को 7 से 8 लाख नौकरियां

Tuesday, December 5, 2017 6:29 PM
अगले पांच साल में इस फील्ड में मिलेगी लोगों को 7 से 8 लाख नौकरियां

नई दिल्ली : भारत के मीडिया व मनोरंजन से अगले पांच साल में सात से आठ लाख नये रोजगार अवसर सृजित होने की उम्मीद है और इस दौरान इस क्षेत्र की वृद्धि 11-12 प्रतिशत रहेगी। सीआईआई-बीसीजी की एक रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है। इसके अनुसार बढ़ती ग्रामीण मांग तथा मीडिया खपत से इस क्षेत्र को बल मिलेगा। इसके अनुसार बढ़ती उपभोक्ता मांग, बदलते कारोबारी माडल को देखते हुए इस उद्योग को खुद को पूरी तरह अलग श्रमबल के लिए तैयार करना होगा। सिर्फ मीडिया व मनोरंजन उद्योग को ही अगले पांच साल के दौरान हर साल लगभग 1.4 लाख से 1.6 लाख रोजगार के लिए प्रशिक्षित लोगों की जरूरत होगी। 

इस रिपोर्ट में  कहा गया है कि इस उद्योग में प्रतिभा व कौशल की मांग उसकी आपूर्ति से कहीं अधिक रहेगी। इसलिए उद्योग को 2020 तक पूरी तरह से अलग तरह के श्रमबल के लिए तैयार रहना होगा। इसमें कहा गया है कि मीडिया व मनोरंजन संगठनों को अपनी वृद्धि को बल देने के लिए अपनी रणनीतियों को नये सिरे से तैयार करना होगा ताकि वह खुद को बदलते हुई परिस्थितियों के लिए ढाल सके। 


2.8% होगा GDP में इजाफा
अभी मीडिया और मनोरंजन क्षेत्र का भारतीय इकॉनमी में करीब 1,35,000 करोड़ रुपए का योगदान है और यह करीब 10 लाख लोगों को रोजगार दे रहा है। अगले पांच साल में इसका योगदान बढ़कर 4,50,000 करोड़ रुपए का हो जाएगा।  साथ ही इस सेक्टर में डायरेक्ट और इनडायरेक्ट रूप से काम करने वालों की संख्या 40 लाख हो जाएगी। इसके चलते भारत की जीडीपी में इस सेक्टर का योगदान करीब 2.8 फीसदी होगा।

डिजिटल मीडिया सेक्टर में बढ़ेगी जॉब
सीआईआई के महानिदेशक चंद्रजीत बनर्जी ने कहा कि डिजिटल मीडिया, क्रिएटिव राइटिंग, स्टोरीटेलिंग अब तक का सबसे ज्यादा फायदेमंद सेगमेंट होगा, क्योंकि इस सेक्टर में सबसे अधिक जॉब्स निकलेंगी। हालांकि, मीडिया और मनोरंजन इंडस्ट्री के लिए यंग प्रोफेशनल को ट्रेन करना सबसे बड़ी चुनौती होगी। वर्ष 2022 तक डिजिटल मीडिया में कई नए पोस्ट क्रिएट होंगे। ऐसा नई टेक्नोलॉजी का यूज बढ़ने से होगा। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!